उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना 2021, लाभ, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन [Sadhu Pension in UP]

0

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना 2021, लाभ, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, पात्रता, दस्तावेज, लाभार्थी, अधिकारिक वेबसाइट, टोल फ्री नंबर [Sadhu Pension in UP] (Benefit, Online Registration, Eligibility, Documents, Online Portal, Toll free Number in Hindi)

हमारी भारतीय संस्कृति बहुत पुरानी है, यहां पर साधु-संतों को भगवान की तरह पूजा करते हैं। लोगों की इसी धार्मिक भावना को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने साधु तथा संतो के उत्थान के लिए एक अति लाभकारी तथा महत्वकांक्षी योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना का नाम उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना है। आज हम एक लेख में इस योजना के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे तथा यह भी बताएंगे कि इस योजना का लाभ किन किन साधु को और कैसे प्राप्त होगा।

sadhu pension yojana up in hindi

Table of Contents

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना 2021

योजना का नामउत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना
घोषणा की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थीउत्तर प्रदेश के साधु तथा संत
पेंशन की राशि₹500 प्रति माह
अधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें
हेल्पलाइन नंबर NA

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना क्या है

यह एक पेंशन योजना हैं जिसके अंतर्गत उन सभी साधु संतों को जिनकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है, उन्हें प्रतिमाह की दर से पेंशन राशि दी जाएंगी। यह सभी साधु संतों के लिए अति लाभकारी योजना है। इससे उन्हें आर्थिक सहायता प्राप्त होगी और वे अपना जीवन बेहतर बनाने के लिए आवश्यक सामग्री की खरीदारी भी कर सकते हैं। वर्तमान समय में कोरोना वायरस की महामारी पूरे देश दुनिया में बड़े तेजी से फैल गई है। जिस वजह से सामान्य नागरिकों पर आर्थिक दबाव बढ़ चुका है। इसी तरह से वह लोग साधु-संतों की भी मदद नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में साधु संतों के जीवित रहने के लिए इस योजना को लाकर माननीय मुख्यमंत्री जी ने महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य सभी साधु संतों को इस योजना के माध्यम से एक साथ जोड़कर उनकी बुढ़ापे में मदद करना है। जैसा कि हम सब जानते हैं भारत ऋषि मुनियों का देश है। यहां पर विभिन्न धर्मों के लोग निवास करते हैं तथा इन धर्मों को मानने वाले अनुयायियों की भी कमी नहीं है। जब कोई साधु बूढ़ा हो जाता है तो वह अपना जीवन अच्छे से जी नहीं पाता है क्योंकि उनके पास आधारभूत सुख सुविधाओं की कमी होती है। ऐसे में उन्हें धनराशि की अति आवश्यकता होती है ताकि साधु संत इन धनराशि के माध्यम से अपनी सुविधाओं की पूर्ति कर सके। इस लिए उत्तरप्रदेश सरकार ने इस योजना का शुभारंभ किया है।

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना लाभ

  • इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इससे साधुओं को आर्थिक सहायता प्राप्त होगी, और 60 वर्ष से अधिक आयु वाले साधुओं के लिए उनके बुढ़ापे का सहारा बनेगी.
  • पूरी दुनिया में साधुओं की संख्या सबसे ज्यादा भारत में है तथा भारत में सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में है इसीलिए यहां के साधु को सरकार की योजनाओं का लाभ प्राप्त होगा।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ भी एक तरह से साधु ही है, इससे उत्तर प्रदेश में रहने वाले साधुओं को सुरक्षा कवच प्राप्त होता है।
  • इस योजना के माध्यम से साधु-संतों को ₹500 प्रति माह की दर से पेंशन दी जाएगी। जिससे साधुओं का जीवन स्तर बेहतर बनेगा।
  • उनकी वृद्धावस्था में भी स्थिति अच्छी रहेगी।
  • यदि किसी साधु को कोई बीमारी हो जाती है तो वह इस धनराशि से अपनी बीमारी के लिए दवाइयां खरीद सकता है।

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना पात्रता

  • आवेदक भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • आवेदक उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक साधु या संत होना चाहिए।
  • वेदक की आयु 60 वर्ष से अधिक होना चाहिए।
  • आवेदक के पास पहचान पत्र होना चाहिए।

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज का फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • पहचान पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना अधिकारिक वेबसाइट

इस योजना में आवेदन तो ऑनलाइन होंगे लेकिन इसके लिए शिविर का आयोजन किया जायेगा और वहां से अधिकारी इसका आवेदन करेंगे. इसलिए इसके लिए कोई भी अधिकारिक वेबसाइट की जानकारी लोगों को नहीं दी गई है. हालांकि आपको इस योजना की जानकारी चाहिए हैं तो आप इस लिंक का उपयोग कर सकते हैं.

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना आवेदन

जो भी साधु या संत इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहता है तो उसे निम्नलिखित स्टेप्स फॉलो करने पड़ेंगे जो इस प्रकार हैं:-

इसके तहत साधु तथा संतो के लिए विशेष शिविरों का आयोजन किया जाएगा। जिसमें इस योजना के तहत यह ऑनलाइन प्रक्रिया होगी। इसमें संबंधित अधिकारियों को भी अधिकार होगा कि साधु तथा संतो का रजिस्ट्रेशन करायें। इस शिविर का आयोजन गांव, जिला और ब्लॉक स्तर पर किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना हेल्पलाइन नंबर

इस योजना के लिए कोई भी टोल फ्री नंबर जारी नहीं किया गया है. वो इसलिए क्योकि इसकी उन्हें आवश्यकता नहीं पड़ेगी. इस योजना का लाभ उन तक स्वयं ही पहुँच जायेगा.

FAQ

Q : उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना का लाभ किसको प्राप्त होगा ?

Ans : इसके तहत उत्तर प्रदेश में रहने वाले साधू तथा संतो को लाभ पहुंचाया जाएगा।

Q : उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना के अंतर्गत कितनी पेंशन दी जाती है ?

Ans : इस योजना के अंतर्गत साधु को ₹500 प्रति माह की दर से पेंशन दी जाती है।

Q : उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना के न्यूनतम आयु सीमा कितनी निर्धारित की गई है ?

Ans : इस योजना के अंतर्गत साधुओं की न्यूनतम आयु 60 वर्ष होनी चाहिए।

Q : उत्तर प्रदेश साधु पेंशन योजना कब शुरू की गई थी ?

Ans : यह योजना जनवरी 2019 को शुरू की गई थी।

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here