यूपी अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल 2020 | UP Ayodhya Virtual Deepotsav Online Portal

0
19

यूपी अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल 2020, लांच, वर्ल्ड रिकॉर्ड (UP Ayodhya Virtual Deepotsav Online Portal in Hindi, Launch World Record)

उत्तर प्रदेश राज्य सरकार ने अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल लॉन्च किया है जिसके माध्यम से देश के सभी लोग अयोध्या में हो रहे दीवाली के त्यौहार के उत्सव में भाग ले सकेंगे. यहां बता दें कि दिवाली का त्यौहार इस बार 14 नवंबर 2020 को है और यह एक रोशनी से जगमगाता हुआ त्योहार है. इसीलिए इस बार यूपी सरकार ने एक वर्चुअल वेबसाइट को शुरू किया है ताकि कोविड-19 जैसी महामारी के चलते देश के सारे लोग इस त्यौहार को वास्तविक रुप के बिना ऑनलाइन सेलिब्रेट कर सकें.

up ayodhya virtual deepotsav online portal in hindi

यूपी एनआरआई कार्ड 2020 के लिए ऐसे करें आवेदन.

यूपी अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल

यहां जानकारी दे दें कि अयोध्या में इस बार दिवाली के शुभ अवसर पर लगभग 5,51,000 दीए जलाकर मंदिर के साथ-साथ सारे नगर को रोशन किया जाएगा. इसके अलावा बता दें कि दीवाली का यह समारोह इस बार काफी भव्य रूप से आयोजित किया जाएगा और सारी अयोध्या नगरी और मंदिर को रोशनी से नहलाया जाएगा और यह दुनिया का सबसे बड़ा दिवाली समारोह होगा जिसमें लाखों दीए जगमगाएंगे और यह लाइटिंग लैंप फेस्टिवल गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज किया जाएगा. इसके अलावा सभी मंदिरों, मठों में भी प्रकाश किया जाएगा और सभी लोग अपने घरों में भी दिए जलाकर रोशनी करेंगे.

दिवाली वर्चुअल दीपोत्सव वेबसाइट में भाग लें

इस बार दिवाली के मौके पर यूपी सरकार ने वर्चुअल दिवाली दीपोत्सव पोर्टल को शुरू किया है जिसकी वजह से जो लोग अयोध्या में दिवाली उत्सव में भाग लेने के लिए नहीं आ सकेंगे वह अपने घर से ही इस अनूठे और भव्य उत्सव में शामिल हो सकेंगे और दीप भी जला सकेंगे.

नवीन रोजगार छतरी योजना : सरकार से आर्थिक मदद पा कर शुरु करें, स्वयं का व्यवसाय, जानें कैसे उठा सकते हैं लाभ.  

यूपी दिवाली लाइटिंग लैंप फेस्टिवल वर्ल्ड रिकॉर्ड

सबसे पहले बता दें कि साल 2017 में योगी आदित्यनाथ ने दीवाली लाइटनिंग लैंप फेस्टिवल की शुरुआत की थी, जिसका गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज है और तभी से हर साल दीवाली पर लाखों की संख्या में दिए जलाकर अयोध्या नगरी और राम मंदिर को प्रकाशमान किया जाता है. यहां बता दें कि दीपावली के दिन भगवान राम 14 साल बाद बनवास काट कर अयोध्या वापस आए थे और उनके साथ उनकी पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण भी थे. इसी वजह से उनके आने की खुशी में सभी लोग यह त्यौहार बहुत धूमधाम से मनाते हैं और अपने घरों में दीए जलाकर रोशनी करते हैं.

अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव पोर्टल का ऑफिशल लॉन्च  

बता दें कि इस बार यानी 2020 में दीपावली के शुभ अवसर पर यूपी की राज्य सरकार ने एक वेबसाइट को शुरू किया है, जहां पर 13 नवंबर को यानी दीपावली की पूर्व संध्या को अयोध्या नगरी में भव्य दीप समारोह होगा जिसमें देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी भाग लेंगे. यहां बता दें कि राज्य सरकार ने तकरीबन 5.5 लाख दीए जलाकर रोशनी करने का निर्णय लिया है और इस समारोह में सभी लोगों को वर्चुअली शामिल होने के लिए आमंत्रित भी किया है. कोविड-19 की वजह से इस महोत्सव में कुछ प्रतिबंध भी लगाए गए हैं ताकि यह त्योहार सरलता और सुविधा पूर्वक मनाया जा सके.‌ इस बार यह त्यौहार इसलिए भी विशेष महत्व रखता है क्योंकि अगस्त के माह में श्री राम मंदिर का शिलान्यास किया गया था.

ASEEM पोर्टल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर कामगार या प्रवासी मजदूर प्राप्त कर सकते हैं रोजगार.

यूपी अयोध्या वर्चुअल दीपोत्सव ऑनलाइन पोर्टल की सुविधाएं

यहां बता दें कि यूपी वर्चुअल दीपोत्सव पोर्टल भक्तों और श्रद्धालुओं को बिल्कुल वास्तविक एहसास कराएगा और लोगों ने अब से पहले ऐसा अनुभव कभी भी महसूस नहीं किया होगा जो वर्चुअल होते हुए भी बिल्कुल असली लगेगा. ‌ इसकी मुख्य विशेषताएं इस प्रकार से हैं-

  • अयोध्या में होने वाले इस वर्चुअल दीपोत्सव के ऑनलाइन पोर्टल में भगवान श्री राम की एक विराजमान तस्वीर होगी जिसके सामने वर्चुअल लैंप चलाएं जाएंगे.
  • इस वर्चुअल दीपोत्सव पोर्टल पर लोग अपनी पसंद का दीया चुनकर जला सकेंगे जैसे कि स्टील, पीतल, मिट्टी या किसी अन्य दूसरी धातु का.
  • इसके अलावा सभी भक्तों को दीया जलाने के लिए घी या तेल का प्रयोग करने का भी ऑप्शन दिया जाएगा.  
  • इस भव्य उत्सव में जो भी भक्त दीया जलाएगा उसके हाथ भी दीप जलाते हुए दिखेंगे कि वह महिला के हैं या फिर पुरुष के.
  • जब भक्त दीपक जला देंगे तो उनके विवरण के आधार पर मुख्यमंत्री योगी एक धन्यवाद पत्र भी जारी करेंगे जिसमें रामलला की तस्वीर साथ होगी.

अयोध्या दीपोत्सव समारोह में शामिल होने के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल

इस बार दिवाली के अवसर पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में दीपोत्सव को भव्य रूप से मनाने के निर्देश दिए हैं लेकिन उन्होंने इसके साथ-साथ यह भी आदेश दिए हैं कि कोविड-19 के प्रोटोकॉल का किसी भी तरह से उल्लंघन नहीं होना चाहिए. बता दें कि सीएम ने यह निर्देश दिए हैं कि सभी कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाना अनिवार्य है. इसके साथ-साथ अयोध्या नगरी में सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here