सुकन्या समृद्धि योजना 2020 | Sukanya Samriddhi Yojana in hindi

0
80

सुकन्या समृद्धि योजना 2020 (नियम, ब्याज दर, ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, कैलकुलेटर, चार्ट, लाभ, चेक स्टेटस, बैलेंस, सूचि) (Sukanya Samriddhi Yojana in hindi SSY, Online Form, interest rate)

हमारे देश में बेटे बेटियों में भेदभाव की भावना प्राचीन समय से चली आ रही हैं. हर उस घर में जिसमें  बेटियां पैदा होती हैं उस परिवार को उसकी पढ़ाई एवं उसकी शादी करवाना एक बोझ लगता हैं जबकि बेटों से साथ ऐसा नहीं होता है. इस प्रथा को देखते हुए मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान देश की बेटियों के लिए ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ शुरू की गई थी. इसके तहत गरीब परिवार की बेटियों को उनकी पढ़ाई से लेकर उनकी शादी तक आर्थिक मदद सरकार द्वारा दी जाती है. इस योजना के तहत बेटियों को किस तरह से लाभ प्रदान किया जायेगा एवं इसके लिए वे आवेदन कैसे कर सकती हैं इसकी जानकारी आपको इस लेख से मिल जाएगी. 

sukanya-samriddhi-yojana in hindi

Contents

सुकन्या समृद्धि योजना लांच

नामसुकन्या समृद्धि योजना
अभियानबेटी बचाओ बेटी पढ़ाई अभियान
लांच की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
टोल फ्री नंबर011-26862526
लाभार्थी10 साल से कम उम्र की बेटियां
देखरेखराष्ट्रीय बैंक और पोस्ट ऑफिस
संबंधित विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है

योजना के तहत बेटियों के नाम से पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खोला जाता हैं जिसे सुकन्या समृद्धि खाता कहते हैं. यह उन बेटियों के लिए खोला जाता हैं जिसकी उम्र 10 साल या उससे कम है. ये खाते राष्ट्रीय बैंक के साथ – साथ पोस्ट ऑफिस में भी खोले जाते हैं. इस खाते में न्यूनतम 250 रूपये से लेकर अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ क्या है  –

  • योजना का उद्देश्य :- इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा बेटियों की होने वाली भ्रूणहत्या जैसी प्रथा को ख़त्म कर उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में विकसित करना एवं उनके विवाह के लिए उनकी आर्थिक रूप से मदद करना है.
  • दी जाने वाली सुविधा :- इस योजना में सरकार बेटियों की पढ़ाई के लिए एवं उनकी शादी के खर्च के लिए उनके बचत खाते में कुछ पैसे जमा करती है. जोकि उनकी शादी तक के लिए चलाया जा सकता है.
  • कर (Tax) :- इसमें 2 मुख्य भाग है पहला कुल राशि का योग और दूसरा यह कि हर साल जितना योगदान दिया जायेगा वह सेक्शन 80 सी के दायरे में होना चाहिए. इसमें ब्याज की दर कर से मुक्त होगी. इसलिए यह ईईई श्रेणी कर अंतर्गत आता है.

सुकन्या समृद्धि योजना ब्याज दर –

योजना की खास बात यह हैं कि इसकी ब्याज दर निश्चित नहीं है. प्रतिवर्ष साल में तीन बार इसके ब्याज में बदलाव होते हैं. जैसे कि जब 2015 में योजना की शुरुआत हुई थी तब इसकी ब्याज दर 9.1 % थी, जिसे साल 2016 में बढाकर 9.2 % कर दिया गया था. एक साल तक यही ब्याज दर रहने के बाद से यह प्रतिवर्ष कम होती जा रही हैं. इस साल कोरोना वायरस के चलते इसकी ब्याज में बहुत कमी आई हैं जोकि 8.5 से घटकर अब 7.6 % हो गई है.

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम

मौजूदा सुकन्या समृद्धि खाता का स्थानांतरण :-

लाभार्थी के माता – पिता या अभिभावक द्वारा चुने गये 28 सूचीबद्ध बैंकों एवं डाक घर की किसी भी ब्रांच में खाता खुलवाया गया हो. इसे इंटरचेंज यानि कि देश भर में एक भाग से दूसरे भाग में ट्रान्सफर किया जा सकता हैं और साथ ही एक बैंक से डाक घर में एवं डाक घर से बैंक में भी ट्रान्सफर किया जा सकता है.

लोन सुविधा :-

सरकार द्वारा शुरू की गई प्रत्येक योजनाओं में लोन की अलग – अलग सुविधा दी जाती हैं. जैसे इस योजना में लोन के आवेदन करने की सुविधा नहीं दी गई है. इसमें मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने तक धन सुरक्षित रखा जाता है.

योजना का लॉक इन पीरियड :-

इस योजना में लॉक इन पीरियड की शुरुआत उस दिन से शुरू होती हैं जिस दिन खाता खोला गया हैं और यह बेटी के 21 साल तक की उम्र होने के बाद तक रहता है. जब तक कि बेटी की शादी नहीं हो जाती या पढ़ाई पूरी नहीं हो जाती तब तक.

मैच्योरिटी पीरियड :-

जब लड़की 18 साल की आयु पार कर लेती हैं और उसके बाद उसकी शादी हो जाती है तो उसके खाते में पैसे जमा करना बंद कर दिया जाता है. इस योजना का मैच्योरिटी पीरियड 21 वर्ष तक की आयु के लिए हैं. बेटी के 21 साल पूरे हो जाने के बाद पैसा खाताधारक को सौंप दिया जाता है. इसमें फिर कोई निवेश नहीं किया जाता है.

पैसे निकालने का नियम :-

योजना में नियमानुसार खाता धारक खाते में संचित राशि और उस पर जितना ब्याज मिलेगा वह तभी निकाल सकता है जब बेटी की उम्र 21 साल यानि उसका मैच्योरिटी पीरियड पूरा हो गया हो. या उसकी उम्र 18 साल पूरी होने के बाद उसकी शादी हो गई हो.

समय से पहले पैसे निकालने का नियम :-

अन्य योजनाओं के विपरीत सुकन्या समृद्धि योजना के खाता धारकों को समय से पहले पैसे निकालने की अनुमति दी गई है. लेकिन इसके लिए कुछ विशेष नियम है. इस योजना में जिन बेटियों की उम्र 18 वर्ष के अधिक हो गई है और उनकी पढ़ाई जारी है, तो केवल उसी के लिए ही खाता धारक कुल जमा राशि में से 50 % निकाल कर उपयोग कर सकती हैं. और 21 साल के बाद शादी के लिए पूरे पैसे निकाल सकते हैं. इस जमा की गई कुल राशि में लाभार्थी एवं एजेंसी या बैंक द्वारा जमा की गई राशि दोनों शामिल होती हैं.

पैसे खाते में जमा करने का नियम :-

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोले गये बचत खाते में पैसे कैश, डिमांड ड्राफ्ट या इलेक्ट्रॉनिक ट्रान्सफर मोड किसी भी माध्यम से जमा कर सकते हैं.  

सुकन्या समृद्धि योजना कुल खाते :-

सुकन्या समृद्धि खाता केवल एक ही खोला जा सकता हैं एक से ज्यादा नहीं. लेकिन यदि किसी माता पिता की 2 बेटियां हैं तो उनके लिए 2 अकाउंट खोले जाने की अनुमति दी गई है. किन्तु एक बेटी होने के बाद किसी की 2 जुड़वाँ बेटियां होती हैं तो भी वे इस योजना के लिए पात्र हैं. यदि किसी बेटी के माता पिता नहीं है और उनका उनके अभिभावक द्वारा पालन पोषण किया जा रहा हैं, तो अभिभावक को कानूनी दस्तावेज दिखाना आवश्यक होगा. 

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर :-

इस योजना के कैलकुलेटर का उपयोग करके आप आसानी से इस योजना में जमा राशी एवं निवेश राशि आदि सभी चीजों की गणना कर सकते हैं. इसके लिए आपको एक्सेल शीट में एक फ़ॉर्मूला फीड करना होगा और इसमें आपको जमा की जाने वाली कुल राशि को दर्ज करना है. इसके बाद आपको इसके परिणाम मैथड के आधार पर इसका मासिक एवं वार्षिक दोनों में परिणाम प्राप्त हो जायेगा. इसका उपयोग करके किसी भी गलती को ठीक किया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि योजना चार्ट :-

यदि खाता धारक मासिक आधार पर पैसे जमा कर रहे हैं तो वे 14 साल तक पैसे जमा कर सकते हैं. वो भी प्रत्येक महीने की 5 तारीख से पहले :-

मासिक आधार पर जमा राशी की गणना

मासिक जमा राशिब्याज दरमैच्योरिटी राशि
10008.5 %5,57,690
15008.5 %8,33,761
20008.5 %11,09,832
30008.5 %16,61,975
40008.5 %22,14,118
50008.5 %27,66,261
60008.5 %33,18,404
125008.5 %69,07,334

वार्षिक आधार पर जमा राशी की गणना :-

मासिक जमा राशिब्याज दरमैच्योरिटी राशि
1,0008.5 %48,205
5,0008.5 %2,41,025
10,0008.5 %482,050
20,0008.5 %964,100
30,0008.5 %14,46,150
50,0008.5 %24,10,250
1,00,0008.5 %48,20,499
1,50,0008.5 %72,30,749

सुकन्या समृद्धि योजना नए नियम :-

खाता खुवालने के लिए खाता धारक को पहले कम से कम 1000 रूपये जमा करने ही होते थे. किन्तु हालही में इसे संशोधित करके 250 रूपये कर दिया हैं अब न्यूनतम इतने पैसे हर एक खाते में होना आवश्यक है और अधिक से अधिक खाता धारक डेढ़ लाख रूपये की जमा कर सकते हैं. यदि इसमें 1 साल तक 1000 रूपये (वर्तमान में 250 रूपये) ही जमा रहेंगे, तो यह खाता डिफ़ॉल्ट कहलायेगा. इसके दंड स्वरुप खाता धारक को 50 रूपये प्रतिवर्ष फाइन देना होगा.

सुकन्या समृद्धि योजना में पात्रता मापदंड

  • केवल भारतीय नागरिक :- इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बेटी का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है. और साथ ही बेटी का जन्म भी भारत में हुआ हो तो ही वह इसके पात्र होगी. एनआरआई के लिए यह योजना नहीं है.
  • 10 साल से कम आयु की कन्या :- इस योजना के लांच में यह कहा गया था कि सुकन्या समृद्धि खाता केवल वे ही माता पिता अपनी बेटियों के लिए खोल सकते हैं जिनकी बेटियों की आयु 10 साल से कम है.

सुकन्या समृद्धि योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड :- इस योजना में बैंक या पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाने जाने के लिए आवेदकों को आधार कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी.
  • बच्ची एवं माता पिता की पासपोर्ट फोटो :- इस योजना में लाभार्थी बच्ची एवं उनके माता पिता की एक पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ की भी आवश्यकता पड़ेगी.
  • जन्म प्रमाण पत्र :- बच्ची के जन्म तिथि के लिए आवश्यक है कि उसका जन्म प्रमाण पत्र भी जमा किया जाएँ.
  • निवास प्रमाण पत्र :- बच्ची के स्थाई पते के प्रमाण के लिए उनका निवास प्रमाण पत्र होना भी आवश्यक है.
  • पहचान प्रमाण पत्र :- बच्ची के माता – पिता या उनके अभिभावक की पहचान के लिए उनका पैन कार्ड, राशन कार्ड एवं ड्राइविंग लाइसेंस में एक दस्तावेज होना आवश्यक है.  

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने के लिए आवेदन कैसे करें

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलना अब बहुत आसान हो गया है, सरकार चाहती है कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस योजना का फायदा उठाएं और देश की बच्चियों का भविष्य सुरक्षित रहे. सरकार ने देश की कई बैंकों को इसके लिए चुना है, साथ ही यह मुख्य रूप से पोस्ट ऑफिस की योजना है. हम आपको योजना के तहत आवेदन करने के लिए ऑनलाइन एवं ऑफलाइन दोनों प्रक्रिया बता रहे है –

सुकन्या समृद्धि योजना ऑनलाइन फॉर्म :–

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटियों के खाते खुलवाने के लिए 28 बैंक चयनित किये गये हैं. लाभार्थी बेटी के माता पिता को इनमें से किसी भी बैंक की अधिकारिक वेबसाइट में जाना होगा. यहाँ से आप इसके होम पेज में पहुँच जायेंगे. जहाँ आपको एक लिंक मिलेगी जोकि सुकन्या समृद्धि योजना के पेज पर आपको पहुंचा देगी.
  • यहाँ पर आपको अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसके लिए पंजीकरण फॉर्म पर क्लिक करें. इसके बेटी के माता पिता या उसके अभिभावक के पते एवं उसकी पहचान की जानकारी फॉर्म में भरना अनिवार्य है.
  • इसके बाद इसकी जाँच की जाएगी. इसकी जाँच या सत्यापन का कार्य बैंक अधिकारीयों के कंधों पर रहता है. इसके लिए खाता धारक को अपना आधार कार्ड, पैन कार्ड या किसी अन्य अधिकारिक दस्तावेज को अपलोड करना होगा.
  • बैंक द्वारा फॉर्म सत्यापित हो जाने के बाद आपको सबमिट लिंक पर क्लिक करके अपने आवेदन फॉर्म को जमा कर देना होगा. इसके बाद खाता को सक्रिय करने के लिए लाभार्थी को इसमें पैसे जमा करना होगा. इसके लिए आप नेट बैंकिंग की मदद ले सकते हैं.
  • जब यह हो जायेगा तो इसके बाद बैंक से आपको इससे संबंधित सूचनाएं मिलना शुरू हो जाएगी. जब भी आप इसमें पैसे जमा करेंगे, तो आपको इसका नोटिफिकेशन एसएमएस के माध्यम से आपके मोबाइल फोन में प्राप्त हो जायेगा.

सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म कैसे भरे –

  • जिन माता – पिता या कानूनी अभिभावक को अपनी बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने की इच्छा हैं, उन्हें पोस्ट ऑफिस या फिर चयनित बैंक में से किसी एक शाखा में जाना होगा. वहां जाकर आपको इस योजना से संबंधित सभी जानकारी मिल जाएगी. वहीं से आपको इसके लिए आवेदन फॉर्म भी मिल जायेगा.
  • फॉर्म को बेटी की सभी सही – सही जानकारी से भरने के बाद आपको उसमें अभी दस्तावेज को जोड़कर उसी बैंक में जमा करना होगा. फॉर्म जमा करने से पहले उसे एक बार जरुर चेक कर लें.
  • फॉर्म जमा होने के बाद इसकी जाँच की जायेगी, यदि सब ठीक रहता हैं तो बेटी के नाम से बैंक प्रबंधक या पोस्ट मास्टर सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोल देंगे.
  • एक बार खाता खुल जाने के बाद आपको बैंक या डाकघर से एक पासबुक प्राप्त होगी. पासबुक इस अकाउंट से किये गये लेनदेन की सभी जानकारी होगी. पासबुक प्राप्त करने के बाद आपको पहले पैसे जमा करके खाते को एक्टिव करना होगा.

सुकन्या समृद्धि योजना के फायदे क्या है –

आपने इसकी विशेषताओं एवं नियमों के बारे में तो पढ़ लिया इसके बाद आपको इसमें एक छोटे निवेश से कितना लाभ प्राप्त हो सकता है इसकी जानकारी हम यहाँ दे रहे हैं –

  • उच्च ब्याज दर :- यदि आप सरकार की अन्य छोटी निवेश योजनाओं की तुलना इसके साथ करते हैं तो आप देखेंगे कि ब्याज की दर जो सरकार दे रही है वह दूसरों की तुलना में बहुत अधिक है.
  • टैक्स पर पैसे की बचत :- योजना में हिस्सा लेने के लिए अधिक लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार ने यह घोषणा की है कि योजना के तहत किये गये सभी जमा टैक्सेशन के अंतर्गत शामिल नहीं होंगे. इसके लिए धरा 80 सी के तहत छूट दी गई है.
  • आसानी से स्थानांतरण :- यदि आप देश के एक हिस्से से दूसरे हिस्से में जा रहे हैं तो आप केवल एक फॉर्म भरकर सुकन्या समृद्धि खाते को स्थानांतरित कर सकते हैं. खाते को बैंक से पोस्ट ऑफिस में या पोस्ट ऑफिस से बैंक में स्थानांतरण भी किया जा सकता है.
  • बेटी को खाता का संचालन करने की अनुमति :- योजना के दिशानिर्देशों में यह बताया गया है कि जिस बेटी के नाम से खाता खोला गया है उसकी उम्र 10 साल बीत जाने के बाद वह खुद इसकी देखरेख कर सकती हैं.
  • छोटी मात्रा में जमा राशि :- सुकन्या समृद्धि खाते में जमा की जाने वाली राशि पर कोई रोक नहीं है इसमें कितनी भी राशि जमा कर सकते हैं. इसलिए समाज के सभी वर्गों के लिए इसका लाभ उठाना आसान है.
  • उम्मीदवार को सीधे भुगतान किया जाता है :- एक बार 21 साल की उम्र पार कर लेने के बाद पूरे पैसे उस बेटी को दे दिए जाते हैं, जिसके नाम से खता खोला गया है हालांकि आंशिक वापसी भी कुछ परिस्थिति में उपलब्ध है.
  • गोद ली हुई बेटी के लिए खाता :- इस योजना से न केवल बायोलॉजिकल बालिकाओं को लाभ मिलता है यह उन बेटियों के लिए भी है जिनके माता पिता ने उन्हें कानूनी प्रक्रिया के माध्यम से अपनाया है.   

सुकन्या समृद्धि योजना में शामिल किये गये बैंक

सुकन्या समृद्धि अकाउंट को पोस्ट ऑफिस के अलावा 28 चयनित बैंक में खोला जाता हैं ये 28 बैंकों के नामों की सूची इस प्रकार हैं –  

  • इलाहाबाद बैंक
  • एक्सिस बैंक लिमिटेड
  • आंध्र प्रदेश
  • बैंक ऑफ बरोड़ा
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • कैनरा बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • देना बैंक लिमिटेड
  • आईडीबीआई बैंक लिमिटेड
  • आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड
  • इंडियन बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स
  • इंडियन ओवरसीज बैंक
  • पंजाब एवं सिंड बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एवं जयपुर
  • पंजाब नेशनल बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ इंडिया
  • स्टेट बैंक ऑफ मायसोर
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  • स्टेट बैंक ऑफ पटिआला
  • सिंडिकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ ट्रावन्कोर
  • यूसीओ बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक

इस तरह से प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा इस योजना की शुरुआत बेटियों को बचाने एवं उन्हें पढ़ाने के उद्देश्य के साथ शुरू की गई हैं जिससे लाखों बेटियों को इसका फायदा मिल रहा है.

FAQ

Q : सुकन्या समृद्धि योजना का मैच्योरिटी पीरियड क्या है ?

Ans : बच्ची की उम्र 21 साल की उम्र तक.

Q : सुकन्या समृद्धि योजना में ऑनलाइन पेमेंट कैसे करे?

Ans : ऑनलाइन पेमेंट आप मोबाइल या इन्टरनेट बैंकिंग द्वारा कर सकते है.

Q : क्या सुकन्या समृद्धि खाता स्थानांतरित हो सकता है ?

Ans : हाँ.

Q : सुकन्या समृद्धि योजना का बैलेंस कैसे चेक करें?

Ans : खाते का बैलेंस चेक करने के लिए आप बैंक या पोस्ट ऑफिस में संपर्क करें.

Q : क्या खाता खोलते समय बेटी का उपस्थित रहना आवश्यक है ?

Ans : नहीं, केवल माता पिता या कानूनी अभिभावक जिसका उनके पास प्रमाण होना आवश्यक है.

Q : क्या एक बेटी के नाम से कई खाते खुल सकते हैं ?

Ans : नहीं.

Q : सुकन्या समृद्धि योजना में प्रतिवर्ष जमा की जाने वाली न्यूनतम राशि क्या है ?

Ans : पहले 1000 रूपये था जिसे अब संशोधित करके न्यूनतम 250 रूपये कर दिया गया है.

Q : फाइनेंसियल ईयर में खाते में जमा की जाने वाली राशि की सीमा क्या है ?

Ans : न्यूनतम 250 रूपये एवं अधिकतम डेढ़ लाख रूपये.

Q : सुकन्या समृद्धि योजना कब लागू हुई ?

Ans : सन 2015 में

Q : क्या सुकन्या समृद्धि योजना में लोन की सुविधा दी गई है ?

Ans : नहीं. लेकिन आप चाहें तो पीपीएफ की जगह पर लोन से सकते हैं.

Q : क्या सुकन्या समृद्धि खाते को समय से पहले बंद करने की अनुमति है ? 

Ans : हाँ, लाभार्थी बेटी किसी गंभीर बीमारी से पीढित हैं या उसकी मृत्यु समय से पहले हो जाती हैं.

Q : सुकन्या समृद्धि खाता खुलने के बाद यदि वे एनआरआई बन जाती हैं तो खाता सक्रिय रहेगा ?

Ans : नहीं.

Q : सुकन्या समृद्धि खाते में वार्षिक भुगतान करना भूल गये हैं तो कितना फाइन देना होगा ?  

Ans : 50 रूपये प्रतिवर्ष.

Q : क्या सुकन्या समृद्धि खाते में ब्याज पर टैक्स है ?

Ans : नहीं.  

Q : क्या दादा दादी सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं ?

Ans : हाँ यदि वे कानूनी रूप से बेटी के अभिभावक है तो.

Q : क्या 1 से ज्यादा बेटियों के लिए खाते खोले जा सकते हैं ?

Ans : हाँ. लेकिन बेटी या तो जुड़वाँ होनी चाहिए या एक बेटी के बाद जुड़वाँ हो तो भी चलेगा.

Q ; क्या सुकन्या समृद्धि खाता में बेटी का नाम या जन्मतिथि अपडेट करना संभव है ?

Ans : हाँ, इसके लिए एक एफिडेविट फाइल करना होगा, कि खाते में बेटी का नाम एवं जन्मतिथि गलत है.

Q : सुकन्या समृद्धि खाते के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

Ans : टोल फ्री नंबर 1800 – 223 – 060.

Q : माता – पिता या क़ानूनी अभिभावक की मृत्यु हो जाने पर क्या होगा ?

Ans : मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाने के बाद खाता बंद हो जायेगा, और जितने पैसे जमा हुए हैं वह बेटी को दे दिए जायेंगे.

Q : बेटी की समय से पहले किसी कारण से मृत्यु हो जाती है तो क्या होगा ?

Ans : खाता बंद कर दिया जायेगा और कुल जमा राशि माता – पिता या अभिभावक को प्रदान कर दी जाती हैं. 

Q : क्या अभिभावक का नाम बदल सकते हैं ?

Ans : नहीं.

Q : सुकन्या समृद्धि योजना में 2020 में साल ब्याज दर कितनी है ?

Ans : 8.5 थी जोकि अब 7.6 हो गई है.

Q : सुकन्या समृद्धि खाता कैसे खोला जा सकता है ?

Ans : बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाकर इसका फॉर्म प्राप्त करके उसे भरना होकर उसे जमा कर देना होगा.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here