Home Rajasthan राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना 2021, आवेदन, लाभार्थी

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना 2021, आवेदन, लाभार्थी

0

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना 2021, आवेदन, लाभार्थी, पात्रता, दस्तावेज, पंजीकरण, अधिकारिक वेबसाइट, हेल्पलाइन नंबर [Rajasthan Mukhyamantri Corona Bal Kalyan Yojana] (Application, Benefit, Eligibility, Documents, Official Website, Helpline Number)

कोरोना महामारी ने बहुत से लोगों के घर को बर्बाद कर दिया है। किसी को अनाथ तो किसी को मां से या पिता से जुदा कर दिया है। इसलिए राजस्थान सरकार ने इस कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों की परवरिश के लिए मदद की घोषणा की है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस योजना की घोषणा को करते हुए कहा कि, इसमें विधवा और उन बच्चों को आर्थिक मदद मिलेगी जिनका परिवार इस बीमारी के कारण परेशानी में आया है। उनकी पढ़ाई व परवरिश का खर्च राज्य सरकार उठाएगी, ताकि आने वाले भविष्य में उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी ना हो। इसमें कई तरह की मदद इन लोगों को दी जाएगी जिससे इनकी आर्थिक स्थिति सुधर जाएगी।

rajasthan mukhyamantri corona bal kalyan yojana in hindi

Table of Contents

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना 2021

नाममुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना
राज्यराजस्थान
घोषणाजून 2021
घोषणा की गईराजस्थान के सीएम अशोक गहलोत द्वारा
लाभार्थीकोरोना पीड़ित और अनाथ बच्चे
अधिकारिक वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
टोल फ्री नंबर104/108

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना उद्देश्य

इस योजना को शुरूआत करने का उद्देश्य ये है कि, इसके जरिए उन बच्चों और उन विधवा महिलाओं को मदद मिले, जिन्होंने अपने परिजनों को कोरोना महामारी के कारण खो दिया। अब उनके पास कोई आर्थिक मदद नहीं है कि, वो अपना गुजर बसर कर सके। इसलिए राजस्थान सरकार उनका खर्चा उठाने जा रही है ताकि उन्हें या उनके बच्चों को आने वाले समय में किसी तरह की कोई समस्या का सामना ना करना पड़े। अनाथ बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा मिले ताकि वो भी भविष्य में कुछ कर पाए।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना विशेषताएं

योजना का लाभ :-

इस योजना के जरिए कई घरों में अन्न और बच्चों का भविष्य सुधारने में मदद मिलेगी। जो बच्चे अनाथ हो गए हैं उन्हें गुजारा भत्त और पढ़ाई के लिए किसी से भी मदद मांगने की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि सरकार उनका पूरा खर्च उठाएगी। साथ ही इस कोरोना काल में इस तरह की मदद सरकार की ओर से लोगों के लिए सुनहरा मौका ही साबित होगी।

मुआवजा :

इस योजना पर सरकारी एक बयान के मुताबिक, इस योजना के तहत कोरोना महामारी से माता पिता या एकल जीवित की मृत्यु होने पर अनाथ बच्चों को एक लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

आर्थिक मदद :

ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र तक हर महीने 2500 रुपये आर्थिक सहायता दी जाएगी। 18 साल की उम्र के बाद पांच लाख रुपये सहायता के रूप में दिए जाएगे। साथ ही 12वीं तक इन बच्चों को स्कोलरशिप भी दी जाएगी।

विधवाओं को पेंशन :

इसी तरह कोरोना में अपने पति को खोने वाली विधवाओं को एक लाख रुपये की मदद की जाएगी। इसके अलावा उनकी पेंशन बांधी जाएगी जिसमें उन्हें 1500 रुपये महीना मिलेगी। साथ ही उनके बच्चों की शिक्षा मुफ्त की जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना पात्रता

राजस्थान निवासी :-

इस योजना के लाभार्थी राजस्थान के निवासी होंगे. केवल राजस्थान में रहने वाले अनाथ बच्चों एवं विधवाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा.

कोरोना में मरने वाले :-

इस योजना का लाभ उन लोगों को दिया जाएगा जिनके परिजन कोरोना काल में इस दुनिया से चले गए हैं। उन्हें सरकार उन्हें आर्थिक मदद पहुंचाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना दस्तावेज

आधार कार्ड :-

लाभार्थी को अपने आधार कार्ड की कॉपी जमा करानी होगी जोकि उसकी पहचान बतायेगा.

बीपीएल कार्ड :-

इस योजना का लाभ ऐसे परिवार को मिलेगा जोकि बीपीएल श्रेणी के नीचे आते हैं. इसके प्रमाण के लिए लाभार्थी को अपनी बीपीएल कार्ड की कॉपी भी जमा करनी होगी.

मृत्यृ प्रमाण पत्र :-

मरने वाले का मृत्यृ प्रमाण पत्र लाना बेहद आवश्यक है क्योकि इससे ये पता चल सकेगा कि उसकी मौत कोरोना से हुई है,

फिलहाल राजस्थान सरकार अभी इन्ही दस्तावेजो के आधार पर लोगों को मदद प्रदान करेगी, लेकिन अगर कुछ और दस्तावेज उन्हें चाहिए होगे तो वो उनकी जानकारी उनकी ऑफिशियल वेबसाइट पर दे दी जायेगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना अधिकारिक वेबसाइट

कोरोना संकट में अपनो को खोने वाले लोग इस वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं जिसके बाद उनकी एप्लिकेशन वहां शेयर हो जाएगी। जिसके बाद सरकार अपना काम शुरू कर देगी, और उन्हें समय रहते मदद पहुंचेएगी। सरकार द्वारा जारी वेबसाइट पर जाकर उन्हें कैसे क्या भरना है क्या करना है इसकी पूरी जानकारी वहां जाकर मिल जाएगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना आवेदन

  • इस योजना के लिए आवेदन आप राजस्थान सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर कर सकते हैं जिसमें आपको अपने सारे डाक्यूमेंट अटेच करने होगे। साथ ही उसका कारण भी बताना होगा कि किस तरह की दिक्कत आपके परिवार में आ रही हैं।
  • फोटो और मृत्यृ प्रमाण पत्र की फोटो कॉपी पेस्ट करनी होगी। साथ ही पेशेंट की पूरी जानकारी भरनी होगी। और अस्पताल की पूरी जानकारी भी भरनी होगी।
  • इसके बाद सरकार उसकी पूरी जानकारी निकालकर उनके परिवार को मदद प्रदान करेगी।

राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना टोल फ्री नंबर

इसके लिए 104/108 टोल फ्री नंबर जारी किए हैं। जिसपर आप फोन करके कभी भी मदद मांग सकते हैं। ये नंबर हमेशा चालू रहेगा। साथ ही इसपर कॉल करके आप कोरोना से जुड़ी कोई भी मदद मांग सकते हैं। साथ ही कॉल करके अपना रजिस्ट्रेशन भी करा सकते हैं।

इस तरह से अब राजस्थान सरकार ने भी कोरोना से मरने वाले लोगों के परिवार वालों की जिम्मेदारी लेने का फैसला कर लिया है.

FAQ

Q : राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना किन लोगों के लिए शुरू की गई है ?

Ans : ये योजना कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चे और विधवाओं के लिए शुरू की गई है।

Q : राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना में कैसे अप्लाई कर सकते हैं ?

Ans : इसे आप राजस्थान सरकार की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं।

Q : राजस्थान मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना के लिए कोई टोल फ्री नंबर क्या है ?

Ans : जी हां इसके लिए 104/ 108 टोल फ्री नंबर जारी किया गया है।

Q : राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना की शुरूआत क्यों की ?

Ans : इसकी शुरूआत इसलिए की गई ताकि कोरोना पीड़ितो को आर्थिक मदद मिल पाए।

Q : कोरोना काल में कितने लोगों को हुई परेशानी ?

Ans : कोरोना काल में करोड़ो लोग कोरोना महामारी के शिकार हुए और कई के घर भी बर्बाद हुए।

अन्य पढ़ें –

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here