प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2020 | PM Ghar Tak Fibre Scheme in hindi

0
65

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना 2020 (लाभ, विशेषताएं, रिपोर्ट) (PM Ghar Tak Fibre Scheme in hindi)

पहले के समय में इंटरनेट बहुत कम इस्तेमाल किया जाता था परंतु आज सब की सुविधाओं को पूरा करने के लिए एक महत्वपूर्ण जरिया इंटरनेट बन चुका है। ग्रामीण क्षेत्र हो या शहरी क्षेत्र प्रत्येक क्षेत्र में इंटरनेट ने अपना एक अलग स्थान बना लिया है। प्रधानमंत्री मोदी के डिजिटल इंडिया मुहिम के चलते प्रत्येक घर में इंटरनेट पहुंच चुका है इसी योजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री ने बिहार राज्य के लिए फाइबर योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत प्रत्येक गांव को तेज इंटरनेट प्रदान करने के लिए ब्रॉडबैंड से जोड़ा जाएगा। घर तक फाइबर प्रोजेक्ट के तहत देश के प्रत्येक गांव में इंटरनेट सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी चलिए जानते हैं इस योजना को विस्तार पूर्वक।

घर तक फाइबर योजना के लांच की जानकारी  

योजना का नामप्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना
लांच21 सितम्बर, 2020
शुभारम्भ किया गयाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
लांच किया गयाबिहार में
संबंधित विभागइलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रोद्योगिकी मंत्रालय
लाभार्थीगांव के निवासी
लाभप्रत्येक गांव में इन्टरनेट सुविधा

आधार कार्ड सेंटर फ्रैंचाइज़ी कैसे ले – आप भी इसके द्वारा  अच्छी कमाई कर सकते है, जल्द करे आवेदन

घर तक फाइबर योजना क्या है?

ग्रामीण क्षेत्रों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने के उद्देश्य से यह प्रोजेक्ट सरकार की तरफ से प्रारंभ किया गया है। इस प्रोजेक्ट की मदद से देश के प्रत्येक गांव में सुपर फास्ट इंटरनेट की सुविधा देने का लक्ष्य तैयार किया गया है। 74 वें स्वतंत्रता दिवस के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने बताया था कि 2014 तक सिर्फ 60 से 70 गांव में ही ऑप्टिकल फाइबर मौजूद था परंतु पिछले 5 सालों के अंदर 1.5 लाख गांव को ऑप्टिकल फाइबर योजना के साथ जोड़ा जा चुका है।

घर तक फाइबर योजना विशेषताएं

  • प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इस मुहिम के जरिए गांव गांव के लोगों को प्रत्येक घर में सुपर स्पीड इंटरनेट की सुविधा प्रदान की जाएगी इसलिए इस मुहिम का नाम फाइबर रखा गया है।
  • भारत के सभी गांव में यह सुविधा पहुंचाई जाएगी परंतु इसकी शुरुआत बिहार राज्य से की गई है।
  • प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपने भाषण के दौरान यह बताया कि भारत में सबसे अधिक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन की जाती है ऐसे में गांव के लोगों को भी यह सुख सुविधाएं प्राप्त होनी चाहिए। इसीलिए सुपर स्पीड इंटरनेट को गांव तक पहुंचाने की योजना तैयार की गई है।
  • गांव में उचित रूप से इंटरनेट ना होने की वजह से लोग गांव से पलायन कर के शहरों में पहुंच जाते हैं जिसकी वजह से शहर आगे बढ़ते जा रहे हैं परंतु गांव पिछड़े ही हैं।
  • सरकार की तरफ से अब जल्द ही गांव में ऑप्टिकल फाइबर ब्रॉडबैंड हाई स्पीड इंटरनेट डाटा के साथ लगाए जाएंगे जिससे शीघ्र ही ऑनलाइन काम प्रारंभ हो सकेंगे।
  • प्रधानमंत्री द्वारा भारत नेट नाम की परियोजना के अंतर्गत इस प्रोजेक्ट का प्रारंभ किया गया है।
  • इस प्रोजेक्ट का लक्ष्य रखा गया है कि 2021 के आखिरी तक प्रत्येक गांव में हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा पहुंचाई जाएगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण न्यू लिस्ट : आप ऑनलाइन चेक कर सकते है लिस्ट में नाम है कि नहीं और पैसा कब आएगा

सीएससी सेंटर देंगे ऑप्टिकल फाइबर इंटरनेट की कनेक्टिविटी

  • देश के प्रधानमंत्री का सपना हर गांव में इंटरनेट की सुविधा मौजूद हो इसलिए सीएससी सेंटर को यह सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रत्येक गांव में चुना गया है।
  • एफटीटीएस कनेक्टिविटी के जरिए 45000 गांव के ऊपर गांव में 8900 पंचायतों के साथ जोड़ा जाएगा।
  • स्पेशल परपज व्हीकल के रूप में सीएससी सेंटर महत्वपूर्ण भूमिका इस प्रोजेक्ट के अंदर निभाएंगे।
  • इस प्रोजेक्ट के अंदर इंटरनेट की सुविधा प्रदान करने का काम सीएससी सेंटर द्वारा किया जाएगा।
  • जिन गांव में इस प्रोजेक्ट की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है और वहां पर इंटरनेट कनेक्शन लग चुका है उसी सीएससी से जुड़ कर दूसरे गांव तक कनेक्शन पहुंचाया जाएगा।
  • इस प्रोजेक्ट के तहत ऑप्टिकल फाइबर जोड़ने का काम 21 सितंबर से बिहार राज्य में प्रारंभ कर दिया गया है जिसे पूरा करने में 100 दिन का समय लग जाएगा।

घर तक फाइबर योजना लाभ

  • ग्रामीण क्षेत्र इंटरनेट की सुविधा की वजह से विकसित नहीं हो पाए हैं परंतु इस योजना के तहत गांव का विकास अवश्य होगा जिससे भारत के विकास को भी गति मिलेगी।
  • इंटरनेट ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी की मदद से प्रत्येक गांव में ई-कॉमर्स, ई शिक्षा, ई फार्मेसी, कॉल सेंटर, ऑनलाइन बैंकिंग के साथ-साथ ऑनलाइन शॉपिंग जैसी सुविधाएं भी प्रारंभ हो सकेंगे।
  • ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले किसानों और छोटे उद्योगपति भी ऑनलाइन मार्केटिंग के जरिए अपना सामान देश के प्रत्येक कोने तक पहुंचा सकेंगे।
  • इंटरनेट की शुरुआत होते ही गांव के उद्यमी के लिए रोजगार और नौकरी के नए अवसर खुल जाएंगे।
  • इंटरनेट सुविधाओं से जब गांव की अर्थव्यवस्था जुड़ जाएगी तब कोई भी नौकरी की तलाश में अपने घर को छोड़कर शहर नहीं जाएगा।
  • गांव के बच्चे भी उचित शिक्षा प्राप्त करने के लिए इंटरनेट का सहारा ले सकेंगे।
  • सरकार द्वारा प्रारंभ की गई इस योजना के तहत गांव के प्रत्येक निवासी इंटरनेट पर क्लिक करते ही सभी योजनाओं का लाभ भी प्राप्त कर पाएंगे उन्हें कहीं जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • इस योजना से इंटरनेट की सुविधा प्राप्त होते ही गांव की लड़कियां भी घर बैठे रोजगार प्राप्त कर पाएंगे और अपने पैरों पर खड़ी हो पाएंगे।

नरेगा जॉब कार्ड सूची – चेक करें ऑनलाइन अपना नाम

इंटरनेट इंसान के जीवन का एक बहुत महत्वपूर्ण अंग बन गया है मोदी सरकार द्वारा जारी की गई इस मुहिम से भारत के ग्रामीण क्षेत्रों को बहुत ज्यादा फायदा पहुंचने वाला है साथ ही वहां पर रहने वाले लोगों को भी। इंटरनेट की इस योजना के जरिए देश की विकास की गति को भी बढ़ाने में सहायता मिलेगी।

FAQ –

Q: घर तक फाइबर योजना सबसे पहले किस राज्य में शुरू हो रही है?

Ans: बिहार

Q: घर तक फाइबर योजना से गाँव के लोगों को क्या मिलेगा?

Ans: हर गाँव में इन्टरनेट सुविधा मिलेगी.

Q: घर तक फाइबर योजना से गाँव में कनेक्शन कैसे होगा?

Ans: ऑप्टिकल फाइबर द्वारा

Other links

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here