प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी लिस्ट (सूची) 2020 | PM Awas Yojana – Urban (PMAY – U) in Hindi

0
295

प्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी लिस्ट 2020 (ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, सब्सिडी लोन राशि स्टेटस नाम चेक   (PM Awas Yojana – Urban (PMAY – U) in Hindi) Eligibility Criteria, Online Application Form , check List status, Website, FAQ, Subsidy, Toll Free Number

देश जब से आजाद हुआ हैं तब से लेकर अब तक में भारत का बहुत विकास हो गया है. किन्तु आज भी कई शहरों में गरीबों के पास पक्के घर नहीं है, उन्हें झोपड़पट्टी में रहना पड़ रहा है. ऐसे लोगों की मदद के लिए हालांकि कई सरकारें आकर चली गई लेकिन फिर भी बहुत से लोगों को घर अब भी नहीं मिल पाया था. फिर प्रधानमंत्री मोदी जी के आने के बाद एक योजना लाई गई, जिसका नाम है प्रधानमंत्री आवास योजना. इस योजना के मुताबिक गरीबों को खुद का पक्का घर बनाने में मदद की जा रही है, ताकि वे बेहतर तरीके से जीवन जी सकें. आइये इस योजना की विस्तार से बात करते हैं.

pm-awas-urban-pmay-shahri-u-online-list-check

Contents

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी लांच जानकारी

नामप्रधानमंत्री आवास योजना – शहरी
अन्य नामPMAY – U
घोषणा की गईप्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा
शुरुआत हुईसन 2016 में
संबंधित विभागहाऊसिंग एवं शहरी मंत्रालय
लाभार्थीशहरी इलाकों में रहने वाले गरीब लोग
टोल फ्री नंबर1800-11-3377, 1800-11-3388 एवं 1800-11-6163

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की विशेषताएं

  • गरीबों को सहायता :- ऐसे लोग जो शहर में तो रहते है लेकिन वे जिस घर में निवास करते हैं वह या तो कच्चे होते हैं या फिर वह झोपड़ियाँ होती हैं. उन्हें खुद का पक्का घर बनाने में सहायता करने के लिए इस योजना को लाया गया है. जिसमें उन्हें घर बनाने के लिए सब्सिडी दी जाती है.
  • मध्यमवर्गीय को मिलेगा घर – शहर में रहने वाले मध्यमवर्गीय परिवार जो दिन रात मेहनत करके अपनी रोज की जरुरत को पूरा करते है, ऐसे लोग शहर में घर खरीदने में असमर्थ होते है. ऐसे लोगों के घर का सपना पूरा करने के लिए सरकार उन्हें सब्सिडी दे रही है, जिससे वे आसान किश्त में घर खरीद सकते है.
  • लॉकइन अवधि (Lock in period) :- इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा 5 साल तक के लिए लॉकइन अवधि निर्धारित की गई है. यानि कि योजना के तहत जो घर बन कर लाभार्थी को मिलेंगे, वो उसे 5 साल तक नहीं बेच सकता है.

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के नियम एवं शर्तें

लाभार्थियों को 3 तरीके से लाभ प्रदान किया जा रहा है, जिसे निम्न बिन्दुओं के आधार पर बताया गया है –

  • क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना :- इस योजना के अंतर्गत क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना का संचालन किया जा रहा है. जिसके तहत गरीबों को पक्के घर मुहैया हो रहे हैं, इसमें अलग – अलग आय समूह के आधार पर लाभ दिया जा रहा है. जिसे निम्न बिन्दुओं से समझ सकते हैं.
  • आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को जिनकी आय बहुत कम है उन्हें वित्तीय संस्थानों एवं बैंकों द्वारा 6.5 % की ब्याज दर पर लोन प्रदान किया जाता है. जोकि 20 साल की अवधि के लिए होता है. 
  • इतनी ब्याज दर पर लाभार्थी केवल 6 लाख रूपये तक का लोन ही ले सकता है. इससे ज्यादा लोन लेने पर उन्हें वर्तमान में चल रही ब्याज दर के अनुसार ही लोन मिलता है.
  • योजना के अंतर्गत मिलने वाले घर में वे सभी सुविधाएँ होंगी जोकि एक पक्के घर में होती है जैसे कि बिजली, पानी, शौचालय, रसोई आदि.
  • पक्के घर बनाने के लिए कुल जमीनी एरिया आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए 30 वर्ग मीटर तथा कम आय वाले लोगों के लिए 60 वर्ग मीटर निर्धारित किया गया है. जो ज्यादा एरिया में भी घर बनाना चाहता है तो बना सकता है, लेकिन लोन केवल 6 लाख ही मिलेगा बाकी का उन्हें ही स्वयं ही वहन करना होगा.

प्रधानमंत्री आवास योजना में आय श्रेणियां –

  • MIG 1 – इनमें से यदि किसी व्यक्ति की वार्षिक आय एमआईजी – 1 श्रेणी में आती है तो वह 160 वर्ग मीटर तक की जगह में घर बनवा सकता है. एमआईजी – 1 श्रेणी में आने वाले लोगों को 4 % ब्याज दर के आधार पर लोन मिलता है जोकि 9 लाख रूपये तक मिलता है.
  • MIG 2 – और यदि वह एमआईजी – 2 श्रेणी में आता है तो उसे 200 वर्ग मीटर तक की जगह में घर बनवाने की अनुमति है. एमआईजी – 2 श्रेणी में आने वाले के लिए 3 % ब्याज दर पर लोन मिलता है जोकि 12 लाख रूपये तक मिलता है.

जब लाभार्थी लोन का पूरा ईएमआई जमा कर देता है तो इसके बाद उसके खाते में मासिक क़िस्त की राशि काटकर बाकि राशी को ट्रान्सफर कर दिया जाता है. इस योजना में घर बनवाने के लिए मुखिया उस घर की महिला होती है या फिर पुरुष एवं महिला दोनों का नाम संयुक्त रूप से होता है. यदि उनके घर में कोई बालिग़ महिला नहीं है तो ही लाभार्थी पुरुष हो सकता है. अन्यथा नहीं.

पार्टनरशिप के माध्यम से सस्ते घर :-

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी का दूसरा भाग है पार्टनरशिप के माध्यम से सस्ते घर दिलवाना. जी हाँ इसमें लगभग 35 % ऐसे लोगों को घर बनवाने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है जोकि अलग – अलग राज्यों एवं शहरों के साथ पार्टनरशिप में बनते हैं. इसमें लाभार्थी 1.5 लाख रूपये तक लोन लेने के लिए पात्र होता है.

‘इन – सीटू स्लम’ का पुनः विकास :-

इन – सीटू स्लम यानि मुख्य वास्तविक स्थान. इस योजना के तहत ऐसे लोग जोकि सरकारी या निजी जमीन में रहते थे, उन्हें अपना घर आधुनिक सुविधाओं से युक्त बनवाने के लिए उनकी निजी संस्थानों की भागीदारी के साथ मदद की जा रही हैं. ये निजी संस्थानें कौन सी होंगी इसका चयन राज्य सरकार द्वारा किया जायेगा.

  • इस योजना में केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारें एवं राज्य सरकारें अतिरिक्त फ्लोर एरिया रेश्यो एवं फ्लोर स्पेस इंडेक्स आदि के अधिकार प्रदान करते हुए लाभार्थी को लाभ दे रही है.
  • इसमें झोपड़ियों के स्थान पर पक्के घर बनवाने के लिए सरकार उन्हें 1 लाख रूपये तक की मदद कर रही है.
  • लाभार्थी जिस घर में रह रहे हैं या जहाँ पर घर बनवा रहे हैं वह जमीन पट्टे वाली होगी, जिस पर पूरा अधिकार लाभार्थी का ही होगा.
  • प्राइवेट डेवलपर्स को यह कार्य दिया गया है कि वे लाभार्थियों को तब तक के लिए रहने की सुविधा प्रदान करें जब तक उनके घर बनकर तैयार नहीं हो जाते.

इसके अलावा इस योजना के 2 अन्य घटक है पहला जहाँ झोपडियों का फिर से विकास कर पक्का घर बनवाया जा रहा है, दूसरा मुफ्त में बिक्री, जोकि स्लम एरिया का विकास करने वाले लोगों को घरों को खुले बाजार में बेचने के लिए समर्थ बनाता है.

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी पात्रता मापदंड

  • आर्थिक रूप से कमजोर :- इस योजना में शामिल होने वाले वे लोग हैं जोकि आर्थिक रूप से कमजोर है. यानि कि जिनकी आय वार्षिक रूप से 3 लाख रूपये से नीचे हैं वे इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए योग्य हैं.
  • कम आय वाले लोग :- ऐसे परिवार के लोग जिनकी वार्षिक आय 3 से 6 लाख रूपये के आय समूह के बीच आती है वे क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना का ही लाभ ले सकते हैं.
  • मध्यम आय वाले लोग :- जिन परिवारों की वार्षिक आय 6 से 18 लाख रूपये के आय समूह के बीच आती हैं तो उन्हें मध्यम आय वाले लोगों की श्रेणी में रखा गया है. जिसमें दो अन्य श्रेणी भी हैं एमआईजी – 1 जिसमें आय समूह 6 से 12 लाख है और दूसरा एमआईजी  – 2 जिसमें आय समूह 12 से 18 लाख है. ये भी क्रेडिट लिंक सब्सिडी योजना का लाभ लेने के लिए पात्र हैं.
  • परिवार के कुल सदस्य :- इस योजना में शामिल होने वाले लाभार्थी परिवार की बात करें, तो एक परिवार में पति / पत्नी एवं उनके बच्चे जोकि अविवाहित हैं शामिल हो सकते हैं.
  • अन्य पात्रता :– इस योजना का लाभ केवल और केवल उन्हें मिलेगा जिनके परिवार के किसी भी सदस्य के नाम से कोई भी पक्का मकान पंजीकृत न हुआ हो.

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी आवश्यक दस्तावेज

  • आय प्रमाण पात्र या एफिडेविट :- लाभार्थी को अपनी आय सीमा का प्रमाण देने के लिए आय प्रमाण पत्र या एक एफिडेविट की आवश्यकता होगी जिसमें उनकी कुल वार्षिक आय का ब्यौरा होना चाहिए.
  • लोन आवेदन :- लाभार्थी को लोन प्राप्त करने के लिए लोन का आवेदन देना भी आवश्यक है.
  • पहचान पत्र :- इस योजना के तहत लाभार्थी को अपना घर बनवाने के लिए खुद की पहचान देना आवश्यक है, इसलिए पहचान स्वरुप लाभार्थी आधार कार्ड या फिर अन्य कोई भी पहचान प्रमाण पत्र की कॉपी जमा कर सकता है.
  • पासपोर्ट आकार की फोटो :- इस योजना का आवेदन फॉर्म भरते समय आवश्यकता पड़ेगी पासपोर्ट आकर की फोटोग्राफ की. लाभार्थी आवेदन के दौरान कम से कम 2 फोटोग्राफ भी अपने साथ अवश्य रखें.

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लिए आवेदन कैसे करें

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आप कोई ऑफलाइन या ऑनलाइन कोई भी तरीका चुन सकता है. इन दोनों की जानकारी हम यहाँ प्रदर्शित कर रहे हैं –

प्रधानमंत्री आवास योजना ऑफलाइन प्रक्रिया :-

  • इस योजना में शामिल होकर अपना घर बनवाने के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा जिसे आप जन सामान्य सेवा केंद्र (CSC center) में जाकर प्राप्त कर सकते हैं. आपको साथ में अपने सभी दस्तावेजों को भी लेकर जाना होगा.
  • आपको वहां मौजूद अधिकारी आवेदन फॉर्म दे देंगे आप उसे भरें और सभी आवश्यक दस्तावेजों को उसमें पिन कर दें. और फिर आप इसे उसी अधिकारी को दे दें.
  • जब आप अधिकारी को फॉर्म जमा कर देंगे तो इसके बाद अधिकारी आपको एक रसीद देंगे, जिसमें आपका एप्लीकेशन नंबर दिया हुआ होगा. इस रसीद को आप अच्छे से रखें क्योकि आगे आवेदन की स्थिति की जाँच के समय यह काम आयेगी.

ऑफलाइन आवेदन करने हुए आपको लोक सेवा केंद्र में 25 रूपये का शुल्क देना हो सकता है. यह देने के बाद आपके आवेदन की प्रोसेस पूरी हो जाएगी.

प्रधानमंत्री आवास योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया :-

  • यदि आप घर से बाहर जाये बिना ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अधिकरिक वेबसाइट में जाना होगा.
  • यहाँ आपको कुछ विकल्प मिलेंगे जिसमें से आप ‘सिटिजन एसेसमेंट’ में क्लिक करें.
  • इसके बाद आप नेक्स्ट पेज में आ जायेंगे जहाँ आपको अपना आधार कार्ड नंबर एवं अपना नाम दर्ज करने के बाद चेक बटन पर क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लिए आवेदन फॉर्म खुल जायेगा. जिसमें सभी जानकारी आप भर दें.
  • फिर आप अपने सभी दस्तावेजों को जो भी वहां मांगे गये हैं उसे अपलोड कर दें और सबसे अंत में जाकर आपको सबमिट बटन दिखेगी, उसे क्लिक करके फॉर्म को जमा कर दें.
  • जैसे ही आपका फॉर्म जमा होगा आपकी स्क्रीन पर एक एप्लीकेशन स्लिप यानि रसीद शो होगी आप इसे डाउनलोड करके सेव कर लें, क्योकि यह आपको आगे स्टेटस की जाँच में मदद करेगी.

इस आवेदन प्रक्रिया में आपको कोई भी शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है और न ही कहीं जाने की. इस प्रक्रिया को आप अपने घर से ही पूरा कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की लाभार्थी सूची कैसे देखें

आवेदन करने के बाद लाभार्थी को अपने आवेदन की जाँच करने के लिए भी ऑफलाइन एवं ऑनलाइन दोनों सुविधा दी गई है –

  • ऑफलाइन माध्यम से आवेदन करने के लिए आवेदक को अपने पास के जन सामान्य सेवा केंद्र (CSC center) में जाना होगा, और साथ में अपनी आवेदन की रसीद भी लेकर जानी होगी. वहां पर लाभार्थियों की एक सूची दी हुई होगी यदि आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाता है, तो आपका नाम भी उस सूची में होगा. आप उसे चेक कर सकते हैं.
  • इसके अलावा इसकी ऑनलाइन प्रक्रिया भी हैं जिससे आप स्टेटस की जाँच कर सकते हैं इसके लिए आपको इस योजना के लिए शुरू की गई अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा.
  • यहाँ ‘सिटीजन एसेसमेंट’ के विकल्प में जाने के बाद ‘ट्रैक यौर एसेसमेंट स्टेटस’ करके आपको एक विकल्प दिखाई देगा आपको उसके साथ जाना होगा.
  • इसके बाद आपसे आपकी स्क्रीन में कुछ जानकारी मांगी जाएगी आपको वह जानकारी सही सही भरनी होगी. और अंत में ‘स्टेटस चेक’ बटन पर आपको क्लिक कर देना होगा. आपसे यहाँ एसेसमेंट आईडी भी मांगी जा सकती है इसके माध्यम से भी आप स्टेटस की जाँच कर सकते हैं.
  • जब आप ‘स्टेटस चेक’ वाली बटन पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने लाभार्थियों की सूची शो होगी उसमें आप अपना नाम चेक कर सकते हैं.

इस तरह से यह योजना शहरी इलाकों में झोपड़ियों में रहने वाले लोगों की उनका अपना पक्का घर बनाने के लिए आर्थिक मदद कर रही है. यदि आप भी इस योजना के पात्र हैं और अपना पक्का घर चाहते हैं तो इस योजना के आवेदन फॉर्म को भरकर इसमें खुद का आवेदन करें और लाभ प्राप्त करें.

FAQ

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना का टोल फ्री नंबर क्या है ?

Ans : 1800-11-3377, 1800-11-3388 एवं 1800-11-6163

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी का ऑनलाइन पोर्टल क्या है ?

Ans : pmaymis.gov.in

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की शिकायत कैसे करें ?

Ans : टोल फ्री नंबर पर कॉल करके कर सकते हैं.

Q : क्या प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी होम लोन उधारकर्ताओं के लिए है ?

Ans : यदि वे इस योजना के पात्र हैं तो इसके तहत भी लोन ले सकते हैं.

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में कौन आवेदन कर सकता है ?

Ans : आर्थिक रूप से कमजोर एवं निर्धारित की गई आय सीमा के अंदर आने वाला कोई भी व्यक्ति, जिसके पास खुद का कोई पक्का घर न हो.

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है ?

Ans : ऑफलाइन माध्यम से लोक सेवा केंद्र में जाएँ, एवं ऑनलाइन माध्यम के लिए अधिकारिक वेबसाइट में जायें.

Q : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी में लाभार्थी की सूची में अपना नाम कैसे चेक करें ?

Ans : प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी की अधिकारिक वेबसाइट में जाकर, मांगी जाने वाली जानकारी को भरें.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here