[Apply] कृषि यन्त्र अनुदान योजना 2020 (SMAM) | Krishi Yantra Subsidy Scheme in hindi

3
122

कृषि यन्त्र अनुदान योजना (स्माम (SMAM) किसान योजना) 2020 (पात्रता, ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन फॉर्म, लिस्ट, दस्तावेज) (SMAM Farmer scheme in hindi, Krishi Yantra Subsidy Scheme, Online Form, List, Full form, Eligibility)

हमारा देश कृषि पर निर्भर करता है. इसलिए इसे कृषि प्रधान देश कहा जाता है. देश में किसान खेती करके पैसे कमाते हैं, और हमें अनाज प्राप्त होता हैं. आधुनिक समय में विभिन्न तरह की मशीनें आ गई है जिससे किसान खेती करते हैं. किन्तु ये मशीनें महंगी होती हैं जिसे किसान खरीद पाने में समर्थ नहीं होते हैं. ऐसे में सरकार उनकी मदद करती है. जी हाँ सरकार ने एक योजना की शुरुआत की है जिसका नाम है स्माम किसान योजना. जिसके तहत किसानों को खेती के विभिन्न मशीनें एवं उपकरण खरीदने के लिए सब्सिडी प्रदान की जाती है. इस योजना के बारे में विस्तार से आप हमारे लेख में पढ़ सकते हैं.

krishi-yantra-subsidy-scheme-smam

Contents

कृषि यन्त्र अनुदान योजना (SMAM) के लांच की जानकारी

योजना का नामस्माम किसान योजना या कृषि यंत्र अनुदान योजना
लांच की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीकिसान
संबंधित विभागकृषि विभाग
अधिकारिक वेबसाइटagrimachinery.nic.in

स्माम किसान योजना की विशेषताएं

  • योजना का उद्देश्य :- स्माम किसान योजना या कृषि उपकरण सब्सिडी योजना को लांच करने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य है किसानों को सहूलियत के साथ खेती करने में मदद करना. और साथ ही बेहतर खेती को बढ़ावा देना भी है. ताकि फसल की गुणवत्ता बढ़े.
  • योजना में दी जाने वाली सुविधा :- इस योजना को शुरू करके सरकार किसानों को बेहतर फसल के निर्माण के लिए आधुनिक उपकरण खरीदने के लिए सब्सिडी के रूप में आर्थिक मदद कर रही है. ताकि किसानों के लिए खेती करना आसान हो सके.
  • सब्सिडी :- किसानों को इस योजना के तहत उपकरण खरीदने के लिए कम से कम 50 से 80 % तक की सब्सिडी प्रदान की जाती है.

कृषि यंत्र सब्सिडी योजना में लाभ

  • इस योजना के आने से किसानों को खेती में आसानी होगी.
  • इसके माध्यम से बेहतर फसल उगेगी यानि कि उसकी गुणवत्ता बढ़ेगी.
  • किसानों को आसानी से कृषि उपकरण खरीदने में सहायता मिल रही है इससे उनकी आर्थिक स्थिति पर कोई असर नहीं होगा.
  • इस योजना के माध्यम से जितनी जमीन किसानों की हैं, उसके पूरे हिस्से पर खेती करना आसान हो जायेगा.
  • इस योजना में फसल भी सुरक्षित रहेगी.

स्माम किसान योजना में पात्रता मापदंड

  • भारत का किसान :- भारत में रहने वाले कोई भी किसान जोकि भारत का मूल निवासी है, इस योजना का लाभ उठा सकता है.
  • जमीनी पात्रता :- इस योजना में जमीनी पात्रता यह निर्धारित की गई है कि लाभार्थी किसान के पास खुद की जमीन होना आवश्यक है.
  • जाति पात्रता :- इस योजना का लाभ छोटे एवं सीमांत किसानों को दिया जाना है. इसके साथ ही जो लोग अनुसूचित जाति, जनजाति एवं ओबीसी केटेगरी में आते हैं उन्हें विशेष लाभ प्रदान होगा.

स्माम किसान योजना में लगने वाले आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड :- किसान को अपनी पहचान के लिए अपने आधार कार्ड की कॉपी की आवश्यकता होगी.
  • किसान की पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ :- कृषि उपकरण खरीदने के लिए आवेदन करते समय आवेदकों को कम से कम 2 पासपोर्ट आकार की फोटोग्राफ की भी आवश्यकता होगी. 
  • जमीन का रिकॉर्ड (आरओआर) :- योजना में लाभ वाही उठा सकता है जिसके पास जमीन है इसलिए लाभार्थी किसान को अपनी जमीन के पेपर भी दिखाने पड़ेंगे.
  • बैंक पासबुक :- लाभार्थी किसान का बैंक में एक खाता होना बेहद आवश्यक है. इसके प्रमाण के लिए उन्हें बैंक पासबुक की फोटोकॉपी की आवश्यकता हो सकती है.
  • वोटर आईडी कार्ड :- किसान की पहचान के लिए वोटर आईडी कार्ड भी उपयोग में लाया जा सकते हैं इसलिए आवेदन इसकी भी कॉपी अपने पास रख सकते हैं.
  • मूल निवासी प्रमाण पत्र :- लाभार्थी का भारत का निवासी होने का प्रमाण देने के लिए मूल निवासी प्रमाण पत्र की भी आवश्यकता होगी.
  • जाति प्रमाण पत्र :- इस योजना में विशेष रूप से एससी, एसटी एवं ओबीसी को लाभ दिया जा रहा है इसलिए किसानों को अपना जाति प्रमाण पत्र भी आवेदन फॉर्म के साथ लगाना होगा.

स्माम किसान योजना (कृषि यंत्र अनुदान योजना) में आवेदन कैसे करें

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी किसानों को सबसे पहले अधिकारिक वेबसाइट में जाना होगा.
  • इसके बाद इसके होम पेज में पहुँचते ही आपको सामने ही मेनू बार में ‘रजिस्ट्रेशन’ का विकल्प दिखाई देगा उस पर उन्हें क्लिक करना है. और वहां ड्रॉपडाउन में कुछ और विकल्प मिलेंगे जिसमें से आपको ‘फार्मर’ को सेलेक्ट करना है.
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक अन्य पेज खुलेगा जहाँ उनके सामने फिर से कुछ विकल्प होंगे उनमें से वे किसी भी एक एक विकल्प पर क्लिक कर सकते हैं.
  • उसके बाद नीचे कुछह जानकारी उनसे मांगी जाएगी जैसे उनके राज्य का नाम और साथ ही उनकी आधार संख्या आदि. उन्हें वहां पूछी जाने वाली सभी जानकारी दर्ज करनी होगी.
  • और अंत में सबमिट बटन पर क्लिक कर देना होगा. ये जानकारी सबमिट कर देने के के बाद उनकी स्क्रीन पर एक आवेदन फॉर्म खुल जायेगा.
  • इस आवेदन को भी उन्हें अपनी सभी जानकारी के साथ भरकर अंत में ‘रजिस्टर’ बटन पर क्लिक कर देना होगा.
  • इस तरह से लाभार्थी किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए खुद को रजिस्टर कर सकते हैं.

स्माम किसान योजना में हेल्पलाइन नंबर

इस योजना की अधिक जानकारी के लिए कुछ हेल्पलाइन भी जारी किये गये हैं जोकि विभिन्न राज्यों के लिए अलग – अलग है –

  • उत्तराखंड : 0135 – 2771881
  • उत्तरप्रदेश : 9235629348, 0522 – 2204223
  • राजस्थान : 9694000786
  • पंजाब : 9814066839, 01722970605
  • मध्यप्रदेश : 7552418987, 0755 – 2583313
  • झारखंड : 9503390555
  • हरियाणा : 9569012086
  • बिहार : 9431818911, 9431400000

इस तरह से किसान स्माम योजना के तहत खुद का आवेदन करके कृषि उपकरण सस्ते दामों में खरीदने के सक्षम हो जायेंगे. और कोई परेशानी आने पर उसकी शिकायत भी कर पाएंगे.

FAQ

Q : स्माम किसान योजना क्या देश के सभी किसानों के लिए है ?

Ans : जी हां, भारत का कोई भी किसान हो.

Q : स्माम किसान योजना से किसानों को क्या लाभ होगा ?

Ans : आधुनिक उपकरण खरीदने में मदद 50 से 80 % तक की सब्सिडी प्राप्त होगी.

Q : स्माम किसान योजना का पूरा नाम क्या है ?

Ans : सब मिशन ओन एग्रीकल्चर मैकेनाइज़ेशन स्माम किसान योजना है.

Q : स्माम किसान योजना में आवेदन करने के लिए कहां जाना होगा ?

Ans : कहीं नहीं, इसमें ऑनलाइन आवेदन करना होगा.

Q : स्माम किसान योजना के जरिये क्या फसल की गुणवत्ता में सुधार आयेगा ?

Ans : हां बिलकुल 

अन्य पढ़ें –

3 COMMENTS

  1. सर इस योजना का लाभ कहा मिलता है
    सर इसका लाभ तो बडे लोगो को ही मिलता है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here