इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2020-21 | Indira gandhi matritva poshan yojana in Hindi

0
61

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2020-21, राजस्थान, आवेदन फॉर्म, पात्रता नियम, दस्तावेज, लाभार्थी सूची, (Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana in Hindi, Rajasthan, Online Apply)

राजस्थान सरकार ने अपने प्रदेश के गर्भवती महिलाओं को सरकारी सुविधाएं प्रदान करने के लिए इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का शुभारंभ किया है. राजस्थान राज्य में गर्भवती महिलाओं को सरकार की तरफ से मातृत्व पोषण योजना के अंतर्गत उनके दूसरे बच्चे के जन्म के दौरान कुछ आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान जारी किया गया है, और आज हम इस लेख में इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना राजस्थान के बारे में संपूर्ण रूप से आपको जानकारी प्रदान करेंगे.

indira gandhi matritva poshan yojana in hindi

इंदिरा रसोई योजना राजस्थान : गरीबों को रियायती दरों में मिल रहा है भोजन, जानिए क्या है योजना.

Contents

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2020

राजस्थान राज्य सरकार ने अपने प्रदेश की गर्भवती महिलाओं को गर्भधारण के दौरान बच्चों का एवं गर्भवती महिलाओं का सही से पालन पोषण करने हेतु इंदिरा गांधी मातृत्व योजना शुरू की है. और यह योजना राजस्थान राज्य सरकार की तरफ से काफी बड़ी और लाभकारी योजना गर्भवती महिलाओं के लिए सिद्ध होने वाली है. अभी इस योजना का लाभ राजस्थान के चार मुख्य जिलों में प्रदान किया जाएगा और फिर इस योजना को धीरे धीरे राजस्थान के संपूर्ण जिलों और गांव में पहुंचाया जाएगा. योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपए की आर्थिक सहायता राशि भरण पोषण के लिए प्रदान की जाएगी. इस योजना के माध्यम से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी अपने राज्य के महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए एक बड़ा कदम उठा रहे हैं.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लांच की जानकारी

योजना का नामइंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना
शुरू की गईमुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा
लाभार्थीराजस्थान की गर्भवती महिलाएं
कुल जिलेराजस्थान के कुल 4 जिले
आर्थिक सहायता राशि6000 रुपए
कुल लाभार्थी77000
बेनेफिशरी वेबसाइटrajasthan.gov.in/
टोल फ्री संपर्क नंबरज्ञात नहीं

राज किसान साथी पोर्टल राजस्थान : किसान अब एक जगह से उठा सकेंगे सभी योजनाओं का लाभ, ऐसे करें पंजीकरण.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लाभार्थी

इस योजना का सफल संचालन करने और इसका लाभ ज्यादा से ज्यादा गर्भवती महिलाओं को पहुंचाने के लिए सरकार ने योजना में कुल 43 करोड रुपए निवेश करने का फैसला लिया है. शुरुआती फेस में योजना के कुल 77000 राजस्थान राज्य की गर्भवती महिलाएं इसका लाभ प्राप्त कर सकेंगी.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना राजस्थान इन जिलों में लागू फेस वन

राजस्थान राज्य में इस योजना का सफल संचालन और अधिक महिलाओं को लाभ पहुंचाने के लिए अभी केवल राजस्थान राज्य के 4 जिलों को ही लाभान्वित करने का निर्णय लिया गया है और इस योजना का लाभ अभी फिलहाल में उदयपुर, दुर्गापुर, बांसवाड़ा और प्रतापगढ़ में गर्भवती महिलाओं को प्रदान किया जा रहा है. इस योजना का लाभ अभी केवल सबसे ज्यादा पिछड़े वर्ग लोगों को लाभान्वित करने के साथ शुरू किया गया है और आगे इस योजना का चरणबद्ध तरीके से शुरुआत राजस्थान राज्य के संपूर्ण जिलों में किया जाएगा.

राजस्थान आनंदम योजना : समाज के प्रति छात्रों को अपना योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है, जानिए कैसे.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना की राशि व किस्त

योजना की सहायता राशि को सरकार 5 चरणों के अंतर्गत लाभार्थियों के बैंक खाते में स्थानांतरित करेगी और इस प्रकार से गर्भवती महिलाएं निर्धारित चरण में सहायता राशि प्राप्त करेंगी.

  • पहली किस्त – योजना की पहली किस्त के अंतर्गत लाभार्थी गर्भवती महिलाओं को 1,000 रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी, और इस धनराशि से महिलाएं प्रेगनेंसी की जांच स्क्रीनिंग और रजिस्ट्रेशन जैसी प्रक्रियाएं गर्भधारण के दौरान पूरा करवा पाएंगी.
  • दूसरी किस्त – योजना की दूसरी किस्त में भी लाभार्थी महिलाओं को 1000 रुपए की सहायता राशि प्रदान की जाएगी और इस किस्त में महिलाएं कम से कम 2 बार अपना संपूर्ण रूप से जांच करवा पाएंगी.
  • तीसरी किस्त – इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना की तीसरी किस्त को गर्भवती महिलाओं को प्रसव के दौरान 1000 रुपए की सहायता की राशि के रूप में प्रदान किए जाने का प्रावधान है.
  • चौथी किस्त – योजना की चौथी किस्त में लाभार्थी महिलाओं को 2000 रुपए सहायता की राशि के रूप में प्रदान किए जाने का प्रावधान है और यह सहायता राशि प्रसव के बाद और जब बच्चा 105 दिनों का हो जाएगा तब प्रदान किया जाएगा. इसी दौरान शिशु को सभी प्रकार के टीके भी लगवा दिए जाएंगे.
  • पांचवें और अंतिम किस्त – पांचवी और अंतिम किस्त में लाभार्थी महिला को 1000 रुपए की सहायता राशि किस्त प्रदान किया जाएगा. इसके अतिरिक्त जब गर्भवती महिला का दूसरा बच्चा जन्म ले लेगा और वह महिला बच्चे के जन्म लेने के 3 महीने के उपरांत परिवार नियोजन के संबंधित सभी साधनों को अपने आएगी, तब उसे इस सहायता राशि को उसके बैंक खाते में सीधे स्थानांतरित सरकार द्वारा किए जाने का प्रावधान है.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लिए योग्यता

  • राजस्थान राज्य का निवासी हो :- योजना का लाभ केवल उन्हीं गर्भवती महिलाओं को प्रदान किया जाएगा जो राजस्थान राज्य की मूल निवासी हो.
  • दूसरे जन्म के दौरान योजना का फायदा :- जब महिला दूसरी बार गर्भवती होगी और दूसरे बच्चे के तीन 3 माह के जन्म के बाद जब महिला परिवार नियोजन के सभी साधनों को अपना आएगी, तब उसे योजना का अंतिम लाभ प्रदान किया जाएगा.
  • गर्भवती महिला आवेदन दें :- योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए केवल गर्भवती महिलाएं ही अपना योजना में ऑनलाइन आवेदन देकर लाभ प्राप्त कर सकती हैं.
  • गर्भवती महिला का बैंक में खाता :- जो महिलाएं योजना में लाभ प्राप्त करने के लिए अपना ऑनलाइन आवेदन करेंगे उनका बैंक में या फिर पोस्ट ऑफिस में खाता होना अनिवार्य है.

राजस्थान टीएडी सुपर 30 प्रोजेक्ट : अब छात्रों का कलेक्टर बनने का सपना होगा पूरा, जानिए कैसे.  

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के लिए दस्तावेजों की सूची

लाभार्थी महिला को योजना में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी, जो इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है.

  • आधार कार्ड :- योजना में आवेदन करने के दौरान महिलाओं को अपना खुद का आधार कार्ड चाहिए होगा.
  • व्यक्तित्व पहचान प्रमाण :- योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए महिला के पास राशन कार्ड या फिर वोटर आईडी कार्ड होना बेहद आवश्यक है.
  • बैंक खाते की प्रतिलिपि :- बैंक खाते या फिर डांट खाते में अकाउंट का प्रतिलिपि गर्भवती महिला को योजना में आवेदन करने के दौरान चाहिए.
  • गर्भवती महिला का हेल्थ कार्ड :- योजना में आवेदन करने के दौरान गर्भवती महिला को पीएचसी या फिर कोई भी सरकारी हेल्थ कार्ड आवेदन के दौरान चाहिए होगा.

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया    

यदि आप योजना के सारे पात्रता मापदंड पर खरे उतर रही हैं और आप योजना में अपना आवेदन करना चाहती हैं, तो आपको सबसे पहले योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है. वेबसाइट पर जाने के बाद आपको वहां से योजना का आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना है और उसमें पूछी जा रही जानकारियों को भरने के साथ-साथ सभी प्रकार के आवश्यक दस्तावेजों को भी संलग्न करना है. इतना करने के बाद आपको अपने योजना के आवेदन फॉर्म को ऑनलाइन वेबसाइट पर सबमिट कर लेना है. अभी योजना में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया को सरकार की तरफ से जारी नहीं किया गया है, जैसे ही सरकार योजना में ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को जारी करेगी, हम वैसे ही आपको इसके बारे में इस लेख में अपडेट अवश्य प्रदान करेंगे.

राजस्थान मोक्ष कलश योजना : सरकार दे रही है अस्थियाँ प्रवाहित करने के लिए हरिद्वार तक निशुल्क यात्रा ऐसे उठायें लाभ.

राजस्थान सरकार की इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का लाभ प्राप्त करके गर्भवती महिलाएं और उनके होने वाले बच्चों का स्वास्थ्य सही रहेगा और सरकार अपने राज्य के महिलाओं और नवजात शिशुओं का स्वस्थ सही देखना चाहती है.

FAQ

Q : इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को किस लिए शुरू किया गया है ?

Ans : इस लाभकारी योजना को राजस्थान राज्य की गर्भवती महिलाओं और उनके होने वाले बच्चों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए शुरू किया गया है.

Q : इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को कितने राज्य में शुरू किया गया है ?

Ans : कुल 4 राज्यों में.

Q : इस योजना के तहत महिलाओं को कितनी राशि दी जाएगी और किस प्रकार से ?

Ans : योजना के अंतर्गत गर्भवती महिलाओं को 6000 रुपए की धनराशि कुल 5 किस्तों में प्रदान की जाएगी.

Q : क्या इंदिरा गांधी मातृत्व योजना में राज्य की सभी महिलाएं भाग ले सकती हैं ?

Ans : जी बिल्कुल भी नहीं.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here