दीदी बाड़ी योजना झारखण्ड 2020 | Didi Badi Yojana Jharkhand in Hindi

0
97

दीदी बाड़ी योजना 2020, शुभारंभ, कुपोषण और बेरोजगारी की समस्या होगी दूर, लाभ, पात्रता, दस्तावेज, आवेदन (Didi Badi Yojana Jharkhand) (kya hai, Online Apply, Form, Benefit, Eligibility, Documents, in Hindi)

कोविड-19 की वजह से बेरोजगारी बढ़ती जा रही है और ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले छोटे बच्चे और महिलाओं को पौष्टिक भोजन नहीं मिल पा रहा है जिसके कारण उनमें कुपोषण बढ़ता जा रहा है. इसीलिए इन सब समस्याओं से निपटने के लिए झारखंड की राज्य सरकार ने एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम उठाया है जिसके तहत राज्य में दीदी वाली योजना को शुरू किया गया है.  इसके साथ-साथ राज्य सरकार बेरोजगारी की समस्या को भी दूर करने का प्रयास भी करेगी. यहां जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना को सफलतापूर्वक चलाने के लिए राज्य सरकार ने झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी, मनरेगा, ग्राम पंचायत और वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट का सहयोग लिया है. अगर आप झारखंड के रहने वाले हैं और आपको इस योजना के बारे में सारी जानकारी हासिल करनी है तो हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें.

didi badi yojana jharkhand in hindi

समर्थ योजना राजस्थान : राज्य सरकार दे रही है बच्चों को कौशल ट्रेनिंग जानिए कैसे मिलेगा लाभ.

दीदी बाड़ी योजना की कुछ महत्वपूर्ण बातें

योजना का नामदीदी बाड़ी योजना
शुरू की गईझारखंड राज्य सरकार
लाभार्थीगरीब महिलाओं और बच्चों के लिए
उद्देश्यकुपोषण और बेरोजगारी की समस्या को दूर करना
अधिकारिक वेबसाइटअभी नहीं है
टोल फ्री नंबरअभी नहीं है

दीदी बाड़ी योजना क्या है

कोरोनावायरस जैसी महामारी के कारण लोगों के काम धंधे छूट गए हैं जिसकी वजह से लोग बेरोजगारी का सामना कर रहे हैं. इस वजह से सभी लोग बहुत परेशान हैं विशेषकर गांवों में रहने वाले लोग और उन्हें अपने परिवार का पालन पोषण करने में बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. बता दें कि यह समस्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है जिसकी वजह से ग्रामीण इलाकों में रहने वाली महिलाएं और बच्चे कुपोषण का बहुत ज्यादा शिकार हो रहे हैं. जानकारी दे दें कि झारखंड राज्य की 65% गर्भवती महिलाओं के अलावा वहां पर रहने वाले 45% बच्चे भी कुपोषण का शिकार हो रहे हैं और इन बच्चों की उम्र 5 साल है. इसीलिए झारखंड की राज्य सरकार ने दीदी बाड़ी योजना की शुरुआत की है. जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना के अंतर्गत राज्य के लगभग 5 लाख परिवारों को लाभान्वित किया जाएगा.

वात्सल्य योजना : अनाथ बच्चों के पालन पोषण के लिए राज्य सरकार करेगी मदद, जानिए कैसे.

दीदी बाड़ी योजना का मुख्य उद्देश्य

यहां जानकारी के लिए बता दें कि दीदी बाड़ी योजना का मुख्य उद्देश्य झारखंड राज्य की सभी महिलाओं और बच्चों को कुपोषण की समस्या से छुटकारा दिलाया जाएगा और उनके उचित पोषण के लिए पौष्टिक भोजन भी उपलब्ध कराए जाने का एलान राज्य सरकार ने किया है. बता दें कि कोविड-19 की बीमारी के कारण राज्य में बेरोजगारी बहुत अधिक बड़ी है क्योंकि लोगों की नौकरियां छूट गई है जिसके कारण राज्य में बेरोजगारी बहुत ज्यादा बढ़ गई है और इसी समस्या को दूर करने के लिए ही झारखंड कि राज्य सरकार ने दीदी बाड़ी योजना की शुरुआत की है.

दीदी बाड़ी योजना के लाभ

  • झारखंड में शुरू की गई दीदी बाड़ी योजना का लाभ राज्य के सभी स्थाई निवासियों के लिए है.‌
  • इस स्कीम के अंतर्गत राज्य में बेरोजगारी की समस्या को दूर किया जाएगा. ‌
  • राज्य की सभी महिलाओं और बच्चों को पौष्टिक भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी.
  • झारखंड की राज्य सरकार इस योजना से राज्य के लगभग 5 लाख परिवारों को जोड़ेगी.
  • इस स्कीम के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोग अपने घर के आस-पास 1 से 5 डिसमिल भूमि पर पौष्टिक सब्जियो और फलों का उत्पादन कर सकेंगे.
  • जो लोग भूमिहीन है वह 2 से 5 लोगों का एक ग्रुप बना कर सर्वजनिक भूमि पर ग्राम सभा की अनुमति पर खेती कर सकते हैं.
  • जितने भी प्रवासी मजदूर है उन सभी को रोजगार मिलेगा.
  • यह स्कीम मनरेगा और जेएसएलपीएस के द्वारा संचालित की जाएगी.

मनरेगा जॉब कार्ड सूची में अपना नाम ऐसे देखें.

दीदी बाड़ी योजना के लिए पात्रता

  • आवेदनकर्ता का झारखंड का स्थाई निवासी होना आवश्यक है.
  • आवेदक की आयु 18 साल से लेकर 35 साल के बीच में होनी चाहिए.

दीदी बाड़ी योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदनकर्ता का आधार कार्ड
  • उसका वोटर कार्ड
  • निवास का प्रमाण पत्र
  • उम्मीदवार का जाति प्रमाण पत्र
  • आवेदक का मनरेगा जॉब कार्ड
  • कैंडिडेट की बैंक की पासबुक की फोटो कॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

राज किसान साथी पोर्टल : किसान अब एक जगह से उठा सकते हैं सभी योजनाओं का लाभ ऐसे करें आवेदन.

दीदी बाड़ी योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए कैंडिडेट को इस योजना का आवेदन फार्म भरना होगा जो कि वह ग्राम सभा, ग्राम पंचायत, ग्राम संगठन, आजीविका मिशन से प्राप्त किया जा सकता है.
  • इस आवेदन फार्म में जो भी जानकारी आप से पूछी है उसे ठीक प्रकार से भर दें.
  • जब आप आवेदन फॉर्म भर लें तो उसके साथ जो भी दस्तावेज मांगे हैं उन्हें अटैच करने के बाद अपना फार्म जमा कर दें.
  • फार्म जमा करने के बाद इस योजना के तहत जिन लाभार्थियों का चयन होगा वह आजीविका मिशन के माध्यम से किया जाएगा.
  • जो भी लाभार्थी चुने जाएंगे उनको रोजगार से पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा.
  • जब प्रशिक्षण पूरा हो जाएगा तो उसके बाद लाभार्थियों को मनरेगा के तहत रोजगार दिया जाएगा.
  • इस प्रकार दीदी बाड़ी योजना का आप लाभ ले सकते हैं.

FAQ

Q : दीदी बाड़ी योजना कहां शुरू की गई है ?

Ans : झारखंड में.

Q : दीदी बाड़ी योजना का लाभ लेने के लिए क्या भारत का कोई भी नागरिक आवेदन दे सकता है ?

Ans : नहीं यह योजना केवल झारखंड में रहने वालों के लिए है.

Q : दीदी बाड़ी योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

Ans : गर्भवती महिलाओं और छोटे बच्चों को कुपोषण से मुक्ति और रोजगार.

Q : दीदी बाड़ी योजना को किसने शुरू किया है ?

Ans : झारखंड की राज्य सरकार.

Q : क्या दीदी बाड़ी योजना का लाभ 40 वर्ष का नागरिक ले सकता है ?

Ans : नहीं.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here