‘ब्रांड इंडिया’ मिशन 2020-21 | ‘Brand India’ Mission in Hindi

0
44

ब्रांड इंडिया मिशन 2020–21, ब्रांड इंडिया टैग प्राप्त करने की प्रक्रिया, आत्मनिर्भर भारत अभियान (Brand India Mission 2020-21, Check Eligibility Criteria, Process to Get Brand India Mission Tag in Hindi)

हमारे देश की केंद्र सरकार ने अपने देश में ब्रांड इंडिया मिशन 2020 को शुरू करने का एक बड़ा निर्णय लिया है. इस मिशन के अंतर्गत भारत में निर्मित होने वाले उन सभी गुणवत्ता उत्पादों को ब्रांड एवं उनके प्रचार के लिए अनेकों प्रकार के कार्य किए जाएंगे. योजना को स्वयं वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय नेतृत्व करने वाले पीयूष गोयल जी ने संचालन करने और इसे लागू करने का एक बड़ा निर्णय लिया है. ब्रांड इंडिया मिशन 2020 अन्य देशों की तरह ही अपने स्वदेशी उत्पादों की गुणवत्ता और उसके प्रचार के लिए ब्रांड की सुविधा प्रदान करेगी. आज हम आप सभी लोगों को इस लेख के माध्यम से ब्रांड मिशन इंडिया 2020 क्या है और ब्रांड इंडिया मिशन के टेक को कैसे प्राप्त करें इस विषय पर विस्तार से जानकारी देंगे.

brand india mission in hindi

हज यात्रा 2021 करने के लिए ऐसे करें आवेदन एवं जानिए पात्रता.

Contents

ब्रांड इंडिया मिशन के लांच की जानकारी

योजना का नामब्रांड इन इंडिया मिशन
योजना की लॉन्च तिथि वर्ष 2020
किसने लॉन्च की योजनाकेंद्र सरकार के माध्यम से
योजना का लाभार्थी राज्यसंपूर्ण भारतवर्ष
योजना का उद्देश्यभारत देश में निर्मित उत्पादों को अपने देश का ब्रांड प्रदान करना और उसका प्रचार करना
योजना के लाभार्थीभारत देश के नागरिक
आधिकारिक वेबसाइटअभी नहीं
योजना का हेल्प डेस्कअभी नहीं

ब्रांड इंडिया मिशन क्या है

ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत अपने देश में बनाए जाने वाले लगभग सभी प्रकार के उत्पादों और उनकी गुणवत्ता को प्रदर्शित करने के साथ-साथ देशी एवं विदेशी उपभोक्ताओं को उस उत्पाद के बारे में संपूर्ण रूप से जानकारी प्रदान करना और उसके बारे में प्रचार प्रसार करने का काम किया जाएगा.इस योजना के जरिए केंद्र सरकार अपने देश में बने उत्पादों को एक अलग से ब्रांड इंडिया का टैग प्रदान करेगी और इस मिशन के जरिए स्वदेशी उत्पादक को बढ़ावा प्रदान किया जाएगा और इस योजना के जरिए सरकार आत्मनिर्भर भारत के और स्वदेशी के सपनों को पूरा करने के लिए संपूर्ण प्रयास करेगी.

पीएम – वाणी योजना : प्रधानमंत्री मुफ्त वाईफाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस योजना

ब्रांड इंडिया मिशन की विशेषताएं

ब्रांड इंडिया मिशन के जरिए स्वदेशी सामानों के उत्पादन और उसके प्रचार प्रसार का कार्य संपन्न किया जाएगा और इसके अतिरिक्त स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा भी प्रदान किया जाएगा. इस मिशन के और भी बहुत सारे विशेषताएं हैं और उनमें से कुछ इस प्रकार से हैं.

  • इस मिशन के जरिए भारत में बनने वाले लगभग सभी प्रकार के उत्पादों की गुणवत्ता को बढ़ावा मिल सकेगा और इससे हमारे उत्पादों को विदेशों में भी ट्रांसपोर्ट किया जाएगा.
  • जब हमारे देश में बने उत्पादों को ब्रांड इंडिया का टैग और सरकारी नाम प्रदान किया जाएगा, तो इसकी वजह से देशी एवं विदेशी स्तर पर लगभग सभी प्रकार के उत्पादों की मांग बढ़ेगी और लोगों को इन उत्पादों के प्रति विश्वास भी बढ़ेगा.
  • उत्पादों के निर्माण के बाद भारत सरकार द्वारा अनुमति प्राप्त होने के बाद इन्हें उचित मूल्य पर देश व विदेशों में बेचा जाएगा और इससे सरकार के साथ-साथ ब्रांड के मालिक या कंपनी को भी अधिक मुनाफा हो सकेगा.
  • इस मिशन को शुरुआत प्रदान करने के लिए सबसे पहले टायर एवं रबड़ के उद्योगों को फोकस किया जा रहा है एवं इसके तहत निजी निवेश की सहायता से रबड़ के प्लांटेशन को भी बढ़ावा मिल सकेगा.
  • आने वाले लगभग 10 वर्षों के भीतर भीतर इस मिशन के अंतर्गत विनिर्माण के क्षेत्रों के अंतर्गत लगभग सरकार 200 लाख करोड रुपए से भी अधिक कार्यसूची के एजेंटों को प्रस्तुत करने के लिए निवेश करने वाली है.
  • आने वाले कुछ वर्षों में धीरे-धीरे अन्य औद्योगिक कार्यों को भी इस मिशन के अंतर्गत जोड़ा जाएगा और उन्हें भी बढ़ावा प्रदान किए जाने पर पूरा कार्य किया जाएगा.

ब्रांड इंडिया मिशन का टैग प्राप्त करने के लिए पात्रता मापदंड

यदि आप अपने देश में रहकर किसी भी प्रकार के उत्पाद का निर्माण करते हैं या फिर किसी अन्य व्यक्ति को ब्रांड इंडिया मिशन का टैग दिलवाना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको कुछ पात्रता मापदंड के बारे में जानना होगा, जो इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है.

  • ब्रांड इंडिया का टैग प्रदान करने से पहले संबंधित अधिकारी या विभाग भारत में बने उस उत्पाद में न्यूनतम 20% की स्थानीय सामग्री मिश्रित होने के बाद ही उसे यह टैग प्रदान करेगी.
  • यदि आप ब्रांड इंडिया का पद प्राप्त करना चाहते हैं, तो ऐसी परिस्थिति में आपके उत्पादन का मुख्यालय भारत देश में होना चाहिए और तभी आपको इसका टैग प्रदान किया जाएगा.
  • भारत में निर्मित उत्पाद वाली या कंपनी का मालिक को सभी प्रकार के सरकार द्वारा निर्धारित किए गए स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों आधार पर कार्य करना होगा और तभी आपको ब्रांड इंडिया मिशन का टैग प्राप्त हो सकेगा.

हर घर नल योजना : सभी को मिलेगा अब नल का पानी.

ब्रांड इंडिया मिशन का टैग प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज की सूची

  • आपका माल या फिर उत्पादन सामग्री भारत देश के अंतर्गत पंजीकृत होना चाहिए और इसका प्रमाण पत्र भी आपके पास होना चाहिए.
  • कंपनी के सभी स्वास्थ्य एवं सुरक्षा मानकों का अनुपालन पत्र भी चाहिए होगा.
  • ब्रांड इंडिया का टैग प्राप्त करने वाली कंपनी का और उसके मालिक का सारा ब्यौरा और जानकारी प्रमाण पत्र होना चाहिए.
  • ब्रांड इंडिया का टैग प्राप्त करने वाली कंपनी के अंतर्गत बनने वाले उत्पादों के बारे में सभी प्रकार की जानकारी जैसे कि उसको बनाने के लिए किन-किन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है एवं उन्हें कहां कहां से मंगाया जाता आदि.

ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत टैग प्राप्त करने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया

इसके पंजीकरण के लिए आपको ज्यादा कोई विशेष कार्य नहीं करना है, बस ऊपर बताए गए पात्रता मापदंड और आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपने कार्य को करना है. पात्रता मापदंड एवं सभी नियमों का पालन करने के बाद आप अपने आप ही ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत सम्मिलित हो जाते हैं और इसके बाद इस मिशन के जरिए आप के ब्रांड या उत्पाद को न्यू इंडिया का टैग प्रदान कर दिया जाता है.

सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज अभियान – मशीनरी द्वारा सभी सीवर और सेप्टिक टैंक की सफाई का संचालन होगा.

ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत अपने उत्पाद को पंजीकृत संस्थानों के साथ जोड़ें

सभी प्रकार के भारतीय उत्पादन निर्माता कंपनियां अगर सरकारी संस्थाओं में अपने उत्पादन को जोड़ना चाहती हैं, तो इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं का पालन करना पड़ता है. मगर आज के इस आधुनिक भारत के समय में इस कार्य के अंतर्गत लगभग सभी प्रकार की प्रक्रियाओं को बहुत ही सुलभ रूप प्रदान कर दिया गया है. नीचे हमने आपके सहायता के लिए कुछ संस्थाओं के नामों का वर्णन किया है, जिसके अंतर्गत आप अपनी कंपनी को सरकारी तौर पर पंजीकृत करवाने के लिए सक्षम हो पाएंगे.

  • सार्वजनिक खरीद में वरीयता
  • सरकारी ई – बाजार
  • व्यापार समझौते के तहत अन्य लाभ

अभी फिलहाल भारत सरकार ने एवं केंद्र सरकार ने ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत कुछ प्रमुख योजनाओं को कुछ समय के लिए बंद कर दिया है, मगर चीन देश के साथ आए दिन सीमा पर बढ़ते हुए तनाव को देखते हुए भारत सरकार ने आत्मनिर्भर भारत के लगभग सभी पुरानी रणनीतियों में कुछ फेरबदल करने का कार्य किया है. इन महत्वपूर्ण फेरबदल की वजह से भारत देश में बने लगभग सभी उत्पादों को वैश्विक तौर पर वैश्विक बाजार के अंतर्गत उसके हिस्सेदारी के रूप में प्रस्तुत करने का कार्य करने का काम पूरे जोरों शोरों तरीके से किया जा रहा है.

जिस प्रकार से अन्य देशों में उनके यहां पर बने उत्पादों को उनका देश ब्रांड टैग प्रदान करता है, अब आज के समय में अपने भारत देश में भी यह सुविधाएं देश के अंदर बनी सभी उत्पादों और उनकी कंपनियों को ब्रांड इंडिया का टैग प्रदान करके ब्रांड इंडिया मिशन का कार्य संपन्न किया जा रहा है. अब हमारे देश में बने उत्पादों को भी अपने देश का ब्रांड टैग प्राप्त हो सकेगा और उत्पादों की वैल्यू के साथ-साथ आय में भी बढ़ोतरी होगी.

FAQ

Q : ब्रांड इंडिया मिशन का सफल संचालन किसके द्वारा किया जाएगा ?

Ans : पीयूष गोयल के जरिए.

Q : क्या भारत में बने उत्पादों को ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत एक वैल्यूएशन भरा न्यू इंडिया का टैग प्रदान किया जाएगा ?

Ans : जी हां बिल्कुल.

Q : ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत अपने उत्पादों को ब्रांड इंडिया का टैग प्रदान करवाने के लिए क्या हमें कुछ निवेश करना होगा ?

Ans : जी बिल्कुल भी नहीं.

Q : क्या ब्रांड इंडिया के अंतर्गत टैग प्राप्त होने पर उत्पादों की गुणवत्ता पर इसका असर पड़ेगा ?

Ans : जी, इसका सकारात्मक असर पड़ेगा.

Q : ब्रांड इंडिया मिशन के अंतर्गत टैग प्राप्त करने की प्रक्रिया क्या है ?

Ans : इसके लिए लेख को पूरा पढ़ें.

अन्य पढ़ें –

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here